गैरसैंण : त्रिवेंद्र सरकार ने 45,585 करोड़ रुपये का बजट पेश किया

त्रिवेंद्र सरकार अपने कार्यकाल का दूसरा बजट आज गैंरसैंण विधानसभा सत्र में पेश किया. नया बजट 45,585 करोड़ रुपये का है. बीते वित्तीय वर्ष 2017-18 में त्रिवेंद्र सरकार ने 39,957.20 करोड़ का बजट पेश किया था. शून्य राजस्व घाटे के अपने पहले बजट में जहां सरकार ने सत्तारूढ़ भाजपा के अगले पांच साल के विजन को ध्यान में रखा था.

अगले वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए आज गैरसैंण सत्र में त्रिवेंद्र सरकार ने 45,585 करोड़ रुपये का बजट पेश किया. बता दें कि पिछली बार लगभग 40 हजार करोड़ का बजट था. वित्त मंत्री प्रकाश पंत अभी सदन में बजट भाषण पढ़ रहे हैं.

उत्तराखंड सरकार के वर्ष 2018-19 के बजट में ऑर्गेनिक हर्बल स्टेट बनाने के लिए 1500 करोड़, 200 स्टार्ट, सभी जिलों में ट्रामा सेंटर, 250 से अधिक आबादी के गांवों में सड़क व 100 फीसद साक्षरता, गैरसैण में अंतरराष्ट्रीय संदीय अध्ययन शोध एवं प्रशिक्षण संस्थान खोलने जैसे प्रावधान किए गए हैं.

इसके अलावा मेट्रो रेल निर्माण के लिए 86 करोड़ का प्रावधान, प्रत्येक जनपद में बंधुआ श्रमिकों के पुनर्वास, गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाले परिवारों के मुखिया के लिए 11.37 करोड़ की व्यवस्था की गई है. यह बजट होम स्टे योजना पर भी फोकस रहा और इस दिशा में भी बजटीय प्रावधान किए गए हैं.