बीजेपी के ‘नरेश’ पर पार्टी की महिला नेताओं को ऐतराज, सुषमा के बाद स्मृति-रूपा भी बोलीं

समाजवादी पार्टी छोड़ने वाले नरेश अग्रवाल को बीजेपी में शामिल कराना पार्टी हाईकमान के लिए मुसीबत का सबब बनता जा रहा है. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के बाद अब दो और कद्दावर भाजपा नेताओं ने नरेश अग्रवाल के बयान पर नाराजगी जाहिर की है. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और बंगाल में भाजपा की कद्दावर नेता रूपा गांगुली ने नरेश अग्रवाल के बयान पर ऐतराज जताया है.

सुषमा स्वराज को है आपत्ति

नरेश अग्रवाल के बयान के कुछ ही देर बाद विदेश मंत्री और बीजेपी की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज ने नरेश अग्रवाल के बयान पर कड़ा ऐतराज जताया था. सुषमा स्वराज ने ट्वीट करते हुए नरेश अग्रवाल का बीजेपी में स्वागत किया, लेकिन उन्होंने जया बच्चन पर की गई उनकी टिप्पणी को अस्वीकार्य और गलत बताया है. सुषमा स्वराज के बाद स्मृति ईरानी और रूपा गांगुली ने भी नरेश अग्रवाल के बयान पर विरोध दर्ज कराया है.

स्मृति ईरानी को भी ऐतराज

स्मृति ईरानी ने कहा कि जब भी महिलाओं के सम्मान को चुनौती दी जाएगी, तब विचारधारा की लड़ाई छोड़ सभी को एकजुट होना चाहिए. उन्होंने संजय निरूपम द्वारा की गई आपत्तिजनक टिप्पणी पर पांच साल के चल रहे केस का जिक्र करते हुए कहा कि किसी भी महिला को अपमानित करने पर वे सभी विरोध करेंगी.

रूपा गांगुली भीं बोलीं, ये स्वीकार्य नहीं
उधर रूपा गांगुली ने नरेश अग्रवाल के बयान की निंदा करते हुए कहा कि ये स्वीकार्य नहीं है. उन्होंने कहा कि मैं जया बच्चन जी का सम्मान करती हूं. फिल्म इंडस्ट्री में जया बच्चन के योगदान पर मुझे फक्र है. उन्होंने कहा यह बीजेपी की लीडरशिप नहीं है.

सोमवार को भाजपा में शामिल होने के फौरन बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए नरेश अग्रवाल ने इशारों में ही जया बच्चन पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. नरेश अग्रवाल ने कहा था कि डांस करने वालों की वजह से सपा में मेरा राज्यसभा का टिकट काटा गया. उनके इस बयान से पार्टी के लिए कुछ देर के लिए असहज स्थिति हो गई.

नरेश अग्रवाल की बात पूरी होते ही पार्टी प्रवक्ता संबित पात्रा ने मोर्चा संभाला और पार्टी का स्टैंड क्लियर करते हुए कहा कि बीजेपी सभी लोगों का सम्मान करती है. वह किसी भी वर्ग समुदाय से हो, या फिल्मों से हो.

पहले भी नरेश अग्रवाल दे चुके हैं विवादित बयान
बता दें कि नरेश अग्रवाल ने महिलाओं को लेकर ये पहला विवादित बयान नहीं दिया है. इससे पहले भी अग्रवाल रेप के मामलों में अभद्र टिप्पणी कर चुके हैं. यहां तक कि नरेश अग्रवाल ने पीएम नरेंद्र मोदी पर निजी टिप्पणी से लेकर हिन्दू देवी-देवताओं पर भी आपत्तिजनक बयान दिए हैं.

बीजेपी करती थी आलोचना
सपा सांसद रहते हुए अग्रवाल के बयानों की बीजेपी कई बार आलोचना कर चुकी है. यहां तक कि राज्यसभा में देवी-देवताओं पर की गई उनकी टिप्पणी के लिए बीजेपी सांसदों ने एक स्वर में अग्रवाल से माफी की मांग भी की थी, लेकिन अब वही अग्रवाल बीजेपी में शामिल हो चुके हैं. ऐसे में उनके गलत बयानों को पचाना भी पार्टी और हाईकमान के लिए मुश्किल साबित होगा.