मेरठ : हाइटेंशन लाइन टूटने से एक युवक की मौत, स्थानीय लोगों ने किया प्रदर्शन

उत्तर प्रदेश में एक हादसे में चार महिलाएं गंभीर रूप से झुलस गई हैं. इस घटना से नाराज स्थानीय लोगों ने युवक के शव को एनएच-119 पर थाने के सामने रख जाम लगा दिया. सूचना पर पुलिस, प्रशासनिक और बिजली विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे. बिजली विभाग की ओर से परिजनों को 5 लाख रुपये का चेक दिया गया. इसके बाद मामला शांत हुआ.

यह घटना उत्तर प्रदेश के मेरठ में मेंथाना इंचौली अंतर्गत घरों में रविवार दोपहर ट्रांसफॉर्मर पर हाइटेंशन लाइन गिरने से हाई वोल्टेज करंट पहुंच गया. इससे घरों में बिजली के उपकरण धमाके से फट गए और एक घर में आग लग गई. इस दौरान मोबाइल को चार्ज पर लगा रहे एक युवक की बिजली की चपेट में आकर मौके पर मौत हो गई.

इंचौली गांव के पास रविवार दोपहर 11 हजार की हाइटेंशन लाइन अचानक टूटकर गांव में बिजली सप्लाई के लिए रखे ट्रांसफॉर्मर पर गिर गई. इससे गांव के घरों में हाई वोल्टेज करंट पहुंच गया. उपयोग किए जा रहे बिजली के उपकरण धमाके के साथ फटने लगे.

इस दौरान कुआ पट्टी में सत्येंद्र पुत्र अशोक अपना मोबाइल चार्ज पर लगा रहा था. हाई वोल्टेज की चपेट में आकर उसकी मौके पर ही मौत हो गई. वह बीटेक सेकंड ईयर का छात्र था. इसके अलावा गांव की बिरजो, साहिबा और इमराना करंट की चपेट मे आकर गंभीर रूप से झुलस गईं. गांव के एक घर में टीवी फटने से आग लग गई, जिसे गांववालों ने बुझाया.

इस घटना के बाद गांव के लोग खासे नाराज हो गए. उन्होंने सत्येंद्र के शव को थाना इंचौली के सामने हाइवे पर रख जाम लगा दिया. लोग नुकसान के लिए मुआवजे की मांग कर रहे थे. इसी दौरान थाना पुलिस ने उनसे शव को अपने कब्जे में करना चाहा. इसी दौरान एडीएम सिटी मुकेश चंद्र, एसपी ग्रामीण राजेश कुमार सिटी मैजिस्ट्रेट और सीओ भारी संख्या में पुलिस फोर्स लेकर मौके पर पहुंच गए.

बिजली विभाग के आला अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए. बिजली विभाग की ओर से सत्येंद्र के परिजनों को पांच लाख का चेक दिया गया. विभाग के चीफ इंजिनियर एसबी यादव ने बताया घटना की जांच की जाएगी और गांववालों की हरसंभव सहायता की जाएगी. इस घटना में गंभीर रूप से झुलसी तीनों महिलाओं को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है. मामूली रूप से झुलसे लोगों को प्रारंभिक इलाज के बाद घर भेज दिया गया.