पत्नी ‘हसीन’ आरोप लगाकर उजाड़ रही सारा ‘जहां’, शमी रिश्ता बचाने के लिए गिड़गिड़ा रहे

भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी के खिलाफ उनकी पत्नी हसीन जहां रोज नए-नए आरोप लगा रही हैं. इसी कड़ी में रविवार दोपहर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में हसीन जहां ने एक बार फिर से मोहम्मद शमी पर कई गंभीर आरोप लगाए. हसीन जहां के मीडिया से बातचीत करने के बाद मोहम्मद शमी भी मीडिया से मुखातिब हुए. शमी ने अपनी पत्नी के द्वारा लगाए गए आरोपों पर तो कुछ नही कहा, लेकिन उन्होंने कहा कि मैं बात करने के लिए तैयार हूं.

शमी ने मीडिया के सामने कहा कि अगर ये मुद्दा बातचीत से हल हो जाए, तो इससे बेहतर कुछ नहीं हो सकता. आपसी तालमेल से इस मुद्दे को सुलझाना ही हम दोनों और हमारी बेटी के लिए सही रहेगा. मुझे इसके लिए कोलकाता जाना पड़ेगा तो मैं इसके लिए भी तैयार हूं और मुझे हसीन जहां कहीं भी बुलाएंगी तो मैं बातचीत करने के लिए वहां मौजूद हो जाऊंगा.

इससे पहले शमी की पत्नी हसीन जहां ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीडिया से बातचीत की थी. हसीन जहां ने बताया था कि बीएमडब्ल्यू कार से उन्हें शमी का दूसरा मोबाइल नहीं मिलता तो वो उन्हें तलाक दे देता. उसकी सच्चाई मोबाइल से ही सामने आई. इसके बाद उसका उनके प्रति बर्ताव बदल गया.

शमी की पत्नी हसीन जहां ने बताया कि, ‘शमी तो मुझे छोड़कर भागकर यूपी जा रहा था. अगर उसका फोन मुझे नहीं मिला होता तो आज की तारीख में वो मुझे तलाक भेज चुका होता. उसे जब ये पता चला कि बीएमडब्ल्यू कार में रखा उसका फोन मुझे मिल गया है जिसमें सारे सबूत हैं, तो उसके बाद शमी के बर्ताव में बदलाव आ गया’.

हसीन ने आगे कहा, ‘अब मामला काफी आगे जा चुका है. ऐसे में समझ नहीं आता कि अब सुलह कैसे होगी. मैंने अपने रिश्ते को बचाने के लिए उसे काफी समझाया. वह वापस आने की कोशिश करे तो अब भी मैं इस बारे में सोच सकती हूं’.

हसीन ने कहा, ‘वह (शमी) खुद को आरोपों से बचाने के लिए सब कुछ कर रहा है. मैंने मीडिया को सभी सबूत सौंप दिए हैं, लेकिन फिर भी मीडिया मामले में पड़ताल क्यों नहीं कर रहा है. अभी तक मैं मामले को सोशल मीडिया पर लेकर आई हूं’.

इस बीच शमी-हसीन मामले में दिल्ली लौटे शमी के परिजन रविवार को फिर से कोलकाता के लिए रवाना हो गए हैं. शनिवार रात करीब रात 11 बजे परिजन कोलकाता से दिल्ली लौट आए थे. परिजनों का अचानक वापस कोलकाता जाने के पीछे माना जा रहा है कि इस मामले में सुलह के प्रबल आसार बन गए हैं.

इससे पहले पत्नी हसीन जहां के आरोपों से भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी शनिवार को काफी भावुक नजर आए. विवाद खत्म करने के लिए पत्नी हसीन जहां को बेटी का भी वास्ता दिया गया. फोन पर हुई विशेष वार्ता में उन्होंने कहा कि वह पत्नी और बेटी के साथ रहने के लिए कुछ भी करने को तैयार हैं. हसीन जहां से लगातार संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं.

शमी ने कहा कि वह इस मामले में बेकसूर हैं, उन्हें साजिश के तहत फंसाया जा रहा है. पत्नी हसीन किसी के इशारे पर काम कर रही है. उन्हें कम से कम मुझे एक मौका तो देना चाहिए. मैं परिवार के लिए कुछ भी करने को तैयार हूं. पत्नी हसीन जहां और बेटी आएरा शमी ही मेरे लिए सबसे बड़ी खुशी हैं. कम से कम हसीन को बेटी की खातिर इस मामले को खत्म करना चाहिए.

हसीन जहां ने तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी पर घरेलू हिंसा, रेप और मारपीट समेत जान से मारने की कोशिश करने का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है. इस मामले में शमी पर गैर जमानती धाराएं लगाई हैं.

तेज गेंदबाज मो. शमी और पत्नी हसीन जहां की लड़ाई में अब हसीन के पूर्व पति शेख सैफुद्दीन भी कूद गए हैं. सैफुद्दीन के अनुसार हसीन बेहद महत्वकांक्षी महिला हैं. हसीन की पहली शादी 2002 में सैफुद्दीन से हुई थी, लेकिन दोनों का तलाक हो गया था. यह प्रेम विवाह था. हसीन पढ़ाई में काफी तेज थीं.

शेख उनसे 10वीं कक्षा से प्यार करते थे. दोनों की 2 बेटियां हैं, जिनमें से एक 10वीं और दूसरी छठी कक्षा में पढ़ती हैं. सैफुद्दीन ने कहा कि उन्हें नहीं पता कि हसीन ने उन्हें क्यों छोड़ दिया. वह अब वीरभूम जिले के सूरी बाजार इलाके में स्टेशनरी की दुकान चलाते हैं.

उन्होंने कहा कि हसीन बहुत महत्वाकांक्षी महिला हैं. अब हसीन से मेरा कोई संपर्क नहीं है. मेरी बेटियां अक्सर अपनी मां के संपर्क में रहती हैं. शेफुद्दीन ने बताया कि हसीन अपने पैर पर खड़ा होना चाहती थी, लेकिन हमारे घर की महिलाओं को नौकरी करने की इजाजत नहीं है. शायद यही पाबंदी हसीन को नापसंद थी.

हसीन जहां की शिकायत के आधार पर शमी व उनके परिवार के चार सदस्यों के खिलाफ जादवपुर थाने में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है. उनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 498ए (दहेज से संबंधित घरेलू हिंसा), 323 (मारपीट), 307 (हत्या की कोशिश), 376 (दुष्कर्म), 506 (जान से मारने की धमकी), 328 (जहर देना) और 34 (आपराधिक साजिश के तहत सामूहिक अत्याचार) के तहत मामले दर्ज किए गए हैं.

शमी के अलावा उनके परिवार के चार अन्य लोग कौन हैं, इस बारे में पुलिस की ओर से अभी साफ नहीं किया गया है. कानूनी जानकारों के मुताबिक इनमें से धारा 307, 328 और 376 गैरजमानती हैं. ऐसे में शमी व उनके परिवार के सदस्यों की गिरफ्तारी लगभग तय है, बशर्ते उन्हें हाईकोर्ट या सुप्रीम कोर्ट से अग्रिम जमानत न मिल जाए.