हलाला और बहु विवाह के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंची समीना

रविवार को अखबार ने प्रकाशित किया की मुस्लिम महिलाओं ने निकाह हलाला और बहु विवाह के खिलाफ आवाज बुलंद की. इस खबर को अखबार ने पहले पन्ने पर प्रकाशित किया है.

तीन तलाक पर सर्वोच्च अदालत से आए सकारात्मक फैसले के बाद अब मुस्लिम महिलाओं ने निकाह हलाला और बहु विवाह के खिलाफ भी आवाज बुलंद की है.

खबर के अनुसार तीन तलाक के जरिए दो बार छोड़ी गई समीना ने इन प्रथाओं को असंवैधानिक घोषित करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है. इससे पूर्व बीजेपी नेता अश्वनी उपाध्याय भी ऐसी ही एक याचिका दायर कर चुके हैं.

जिसमें उन्होंने हलाला और बहुविवाह को महिलाओं के मौलिक अधिकारों का उल्लंघन बताया है. खबर में बताया गया है कि याचिका दाखिल करने वाली समीना की पहली शादी 1999 में हुई, जिससे उन्हें दो बच्चे हुए. लगातार बुरे व्यवहार के बाद शौहर ने उन्हें तीन तलाक दे दिया.

इसके बाद उन पर पति से दोबारा विवाह करने लिए दबाव डाला गया और उन्हें पहले से शादीशुदा उम्रदराज व्यक्ति के साथ शादी करनी पड़ी. जब वह गर्भवती हो गईं तो शौहर ने फोन पर तीन तलाक दे दिया. समीना अब अपने तीन बच्चों के साथ अकेली रहती हैं.