ट्रंप के एक फैसले से भारत में महंगी हो जाएंगी यह चीजें

किसी दूसरे देश की नीतियों का किसी अन्य देशों पर कैसा विपरीत प्रभाव पड़ता है, इसे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के उस फैसले से समझा जा सकता है जिसमें उन्होंने स्टील और एल्युमीनियम पर इम्पोर्ट ड्यूटी (आयात शुल्क) लगाकर एक तरह से व्यापार युद्ध की घोषणा कर दी है.

यदि इसके जवाब में भारत भी अपने देश में आयात होने वाली चीजों पर कर बढ़ा देगी तो पिज्जा -बर्गर ,कोकाकोला से लेकर कम्प्यूटर ,सौंदर्य प्रसाधन की चीजें भी महंगी हो जाएंगी. गौरतलब है कि ट्रंप के इस फैसले से अमरीका में भारत के स्टील और एल्युमीनियम की मांग कम हो जाएगी क्योंकि भारत का निर्यात पहले ही घाटे में जा रहा है. ट्रंप के इस सख्त कदम के जवाब में भारतीय कंपनियों ने भी अमरीकी कंपनियों पर टैक्स बढ़ाने की मांग की है.

यदि मोदी सरकार ट्रंप के फैसले के खिलाफ कदम उठाती है तो भारत में मैकडोनाल्ड, पिज्जा हट जैसी कंपनियों पर जवाबी टैक्स लग सकता है, जिससे बर्गर-पिज्जा, कोका कोला और पेप्सी महंगी हो जाएगी. बता दें कि भारत के खाने- पीने के बाजार पर इनका बड़ा कब्जा है. यही नहीं मोदी सरकार की जवाबी कार्रवाई में आयात शुल्क बढ़ने से अमेरिका का अर्थव्यवस्था पर भी गहरा असर पड़ेगा.

इससे भारत में जिलेट कंपनी के शेविंग ब्लेड का सामान, इंटेल कंपनी के कंप्यूटर और मोबाइल से जुडे़ सामान, जॉनसन एंड जॉनसन के उत्पाद, माइक्रोसॉफ्ट और व्हर्लपूल कंपनी के इलेक्ट्रोनिक समान भी महंगे हो जाएंगे. हालाँकि भारत ने ट्रंप की ड्यूटी के जवाब में कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं की है.