हर जिले में लगेंगी सेनेटरी नैपकीन की यूनिटः सीएम रावत

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने महिला दिवस पर हल्द्वानी में आयोजित कार्यक्रम में महिलाओं को ई-रिक्शा बांटे. इस दौरान उन्होंने कहा कि राज्य व केन्द्र सरकार महिलाओं को आत्म निर्भर बनाने के लिए प्राथमिकता से काम कर रही है.

इसी उद्देश्य से बेरोजगार महिलाओं को सरकार की ओर से ई-रिक्शा बांटे जा रहे हैं. एक ई-रिक्शा पर सरकार 50 हजार रुपये की सब्सिडी दे रही है. उन्होंने कहा कि राज्य के हर जिले में सेनेटरी नैपकिन की यूनिट स्थापित की जाएंगीं. हल्द्वानी स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि महिलाओं को रोजगार मुहैया कराने और स्वच्छता अभियान को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से राज्य के हर जिले में सेनेटरी नैपकीन पैड बनाने की यूनिट स्थापित की जाएंगी.

इन यूनिटों को स्थापित करने का काम महिला स्वयं सहायता समूहों को दिया जाएगा. ताकि महिलाओं को स्वच्छता के साथ ही रोजगार से भी जोड़ा जा सके. उन्होंने बताया कि बागेश्वर में स्थापित सेनेटरी नैपकिन यूनिट ने उत्पादन करना शुरू कर दिया है. जल्द ही दूसरे जिलों में भी यह यूनिटें स्थापित हो जाएंगी. इससे पहले मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने स्टेडियम के पास बनें सहकारिता भवन का लोकार्पण किया. उन्होंने कहा कि सरकार सहकारिता के क्षेत्र में भी उल्लेखनीय कार्य कर रही है.

किसानों को दो गुना आय मुहैया कराने के लिए सहकारिता के माध्यम से तमाम योजनाएं शुरू की गई हैं. इस मौके पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट, काबिना मंत्री यशपाल आर्य,उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत, राज्य सहकारी बैंक के अध्यक्ष दान सिंह रावत,मेयर डॉ.जोगेंदर सिंह रौतेला, भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट आदि मौजूद रहे.