पत्नी के बाद अब बीसीसीआई ने बढ़ाई शमी की परेशानी..

भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी का नाम भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) द्वारा बुधवार को जारी 26 सदस्यीय वार्षिक अनुबंध की सूची में शामिल नहीं है. इस बार अनुबंध में नया वर्ग शामिल किया गया है.

वार्षिक अनुबंध की सूची में शमी का नाम ना होने के पीछे का कारण उनकी पत्नी द्वारा उन पर लगाए गए आरोप भी हो सकते हैं. शमी की पत्नी ने उन पर मारपीट करने और अन्य महिलाओं के साथ अवैध संबंध होने का अरोप लगाया है. पिछले सत्र में शमी को बी-वर्ग में शामिल किया गया था.

तेज गेंदबाज शमी के अलावा युवराज सिंह, अंबाती रायडू, शार्दुल ठाकुर, ऋषभ पंत और मंदीप सिंह को भी सूची में शामिल नहीं किया गया है जबकि सुरेश रैना को सी-वर्ग में शामिल किया गया है. उन्हें सलाना तौर पर एक करोड़ रुपये मिलेंगे.

बीसीसीआई के लिए सर्वोच्च न्यायालय द्वारा नियुक्त किए गए प्रशासकों की समिति (सीओए) ने घोषणा की कि यह अनुबंध अक्टूबर 2017 से सितंबर 2018 तक चलेगा.

विज्ञप्ति में कहा गया, “सीओए को मानना है कि फीस की संरचना भारतीय क्रिकेट की स्थिति और प्रदर्शन के आधार होनी चाहिए.”

बीसीसीआई की वार्षिक अनुबंध की सूची में शामिल इस नए वर्ग को ए-प्लस कहा गया है, जिसमें कप्तान विराट कोहली, रोहित शर्मा, शिखर धवन, जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार के नाम हैं. इन सभी को इस वर्ग में रखे जाने के कारण सालाना तौर पर सात करोड़ रुपये मिलेंगे. धवन को पिछले सत्र में सी-वर्ग में रखा गया था.

भारत के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर महेंद्र सिंह धौनी को ए-वर्ग में रखा गया है और उन्हें सालाना तौर पर पांच करोड़ रुपये मिलेंगे.

धौनी के अलावा स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जाडेजा, मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा, अंजिक्य रहाणे, रिद्धिमान साहा को ए-वर्ग में शामिल किया गया है.

हार्दिक पांड्या, लोकेश राहुल, ईशांत शर्मा और उमेश यादव की बी-वर्ग में रखा गया जिसके तहत इन्हें सालाना तौर पर 3 करोड़ रुपये मिलेंगे. युजवेंद्र चहल को भी बी-वर्ग जगह दी गई है.

करुण नायर, केदार जाधव, मनीष पांडे, पार्थिव पटेल और जयंत यादव सी श्रेणी में बरकरार हैं.

इस बीच, 19 महिला खिलाड़ियों को भी तीन वर्गो ए, बी और सी में विभाजित किया गया है. ऐसे में ए-वर्ग में वनडे और टेस्ट टीम की कप्तान मिताली राज, झूलन गोस्वामी, हरमनप्रीत और स्मृति मंधाना शामिल हैं. इन सभी को सालाना तौर पर 50 लाख रुपये मिलेंगे.

महिलाओं के अनुबंध में बी-वर्ग में शामिल खिलाड़ियों को सालाना रूप से 30 लाख और सी-वर्ग की खिलाड़ियों को 10 लाख रुपये मिलेंगे. सी-वर्ग इस साल बनाया गया है.

वेदा कृष्णमूर्ति, दिप्ती शर्मा, पूनम यादव, शिखा पांडे, एकता बिष्ट और राजेश्वरी गायकवाड़ की बी-वर्ग में रखा गया है.

सुष्मा वर्मा, पूनम राउत और किशोरी जेमीमा रोड्रिगेज सी-वर्ग में हैं.