सपा से अग्रवाल ‘आउट’ तो जया बच्चन ‘इन’

जया बच्चन एक बार फिर समाजवादी पार्टी (एसपी) के टिकट पर राज्यसभा जा सकती हैं. खबरों की माने तों पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव उन्हें फिर से राज्यसभा भेज सकते हैं. जया बच्चन की राज्यसभा सदस्यता 3 अप्रैल को खत्म हो रही है.

वहीं एसपी नरेश अग्रवाल का टिकट काट सकती है. इस खबर पर समाजवादी पार्टी के राज्यसभा सदस्य और पूर्व में बच्चन परिवार के करीबी रहे अमर सिंह ने कहा, ‘जया बच्चन समाजवादी पार्टी के लिए हमेशा से ही वफादार रही हैं. वह नरेश अग्रवाल से बेहतर उम्मीदवार साबित होंगी.’ नरेश अग्रवाल, रामगोपाल यादव के बेहद करीबी माने जाते हैं और उनका विवादों से अक्सर नाता रहा है.

पिछले साल पाकिस्तान में क़ैद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को लेकर दिए उनके बयान पर काफी विवाद हो गया था. भगवान राम पर उनके द्वारा की गई टिप्पणी को लेकर भी संसद में खूब हंगामा हुआ था. जया बच्चन समाजवादी पार्टी से लगातार दो बार राज्यसभा में सांसद चुनी जा चुकी हैं. 2005 में उस वक्त सदस्यता छोड़नी पड़ी थी, जब उन पर लाभ के पद का दुरुपयोग करने का आरोप लगा था.

2012 में समाजवादी पार्टी ने एक बार फिर अपने टिकट पर जया बच्चन को राज्यसभा भेजा था. इससे पहले बंगाल के राजनीतिक गलियारों में राज्यसभा सांसद जया बच्चन को लेकर चर्चाएं शुरू हईं थी. कहा जा रहा था कि जया बच्चन तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो सकती हैं और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी जया बच्चन को राज्यसभा की उम्मीदवार बना सकती हैं.