गाबो की जयंती पर गूगल ने डूडल के जरिए किया याद

मंगलवार को सर्च इंजन गूगल ने कोलंबियाई उपन्यासकार और नोबल पुरस्कार विजेता गैब्रियल गार्सिया मारक्वेज के 91वें जन्मदिन पर खास डूडल बनाकर उन्हें याद किया.

पूरे लैटिन अमेरिका में उन्हें प्यार से गाबो पुकारा जाता था. वह 20 वीं शताब्दी के लोकप्रिय लेखकों में से एक हैं. वह प्रसिद्ध लघुकथा लेखक, पटकथा लेखक और पत्रकार थे.

उन्हें 1982 में साहित्य में योगदान, खासकर लघु कहानियों और उपन्यास लेखन में योगदान के लिए साहित्य के नोबेल पुरस्कार से नवाजा गया था.

डूडल में जादुई शहर मैकोंडो को दर्शाया गया है, जिसकी परिकल्पना उन्होंने अपनी मशहूर किताब ‘अ हंड्रेड ईयर्स ऑफ सॉल्ट्यिूड’ में की गई थी. दुनियाभर में इस किताब की तीन करोड़ से ज्यादा प्रतियां बिकी थीं.

मारक्वेज की लिखी किताबों ‘द ऑटम ऑफ द पैट्रिआर्क’ और ‘लव इन द टाइम ऑफ कॉलरा’ को भी सराहना मिली.उनकी अंतिम रचना ‘मेमोरीज ऑफ माई मेलेन्कॉली’ 2004 में प्रकाशित हुई. साल 1927 में कोलंबिया के अराकातका में मारक्वेज का जन्म हुआ था. उन्होंने 25 से ज्यादा किताबें लिखी.

क्यूबा में क्रांति के दौरान फिदेल कास्त्रो के साथ मारक्वेज की करीबी दोस्ती हुई. मारक्वेज को 1999 में लिम्फेटिक कैंसर होने का पता चला और अप्रैल 2014 में 87 साल की उम्र में मेक्सिको सिटी में न्यूमोनिया के कारण उनका निधन हो गया.