संबित पात्रा को झारखंड से राज्यसभा का टिकट मिल सकता है

संबित पात्रा ओडिशा के रहने वाले है लेकिन उनका जन्म धनबाद में हुआ था. इसके अलावा संबित पात्रा की प्रारंभिक शिक्षा बोकारो के चिन्मया विद्यालय में हुई थी.

खबरों की मानें तो बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ. संबित पात्रा राज्यसभा के लिए झारखंड से उम्मीदवार घोषित किए जा सकते हैं. वहीं एक दो और नामों पर भी चर्चा हो रही है जिसमें पूर्व केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान का भी नाम भी शामिल है. हालांकि ये सब फिलहाल अटकलें ही हैं.

झारखंड से राज्यसभा की दो खाली हो रही सीटों को लेकर विभिन्न राजनीतिक दलों के अंदर सुगबुगाहट तेज हो गई है. इन दो सीटों के लिए 23 मार्च को वोट डाले जाएंगे. वोटिंग सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक होगी और अनुमान है कि इसी दिन शाम को मतगणना भी होगी.

रिक्त पदों के लिए नामांकन दाखिल करने की अंतिम तारीख 12 मार्च है जबकि नामांकन पत्रों की जांच 13 मार्च को होगी वहीं नाम वापस लेने की अंतिम तारीख 15 मार्च है. गौरतलब है कि यह चुनाव झरखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) से राज्यसभा सदस्य संजीव कुमार और कांग्रेस टिकट से चुने गए प्रदीप बलमुचू की 3 मई को खाली हो रही सीटों के लिए होगा.

बीते कुछ राज्यसभा चुनावों से बीजेपी की अगुवाई वाले NDA गठबंधन की तरफ से कई बाहरी उम्मीदवारों को राज्यसभा में भेजा गया था लेकिन अब इसके खिलाफ भी आवाजें उठने लगी हैं. लोगों का मानना यह है कि झारखंड के उन व्यक्तियों को राज्यसभा में सूबे का प्रतिनिधित्व करने का अवसर मिलना चाहिए जो यहां के निवासी हों और जो यहां की मूलभूत समस्यों से अवगत हों.

गौरतलब है कि झारखंड से राज्यसभा में बाहरी लोगों को बतौर राज्यसभा सांसद बनाने की सूची लगातार लंबी होती जा रही है. इनमें एमजे अकबर, मुख्तार अब्बास नकवी, एस.एस अहलूवालिया, देवदास आप्टे, जय प्रकाश नारायण सिंह, परिमल नाथवानी जैसे नाम शामिल हैं.