कश्मीर: सेना के एक और कैंप पर आतंकी हमला, सेना की जवाबी फायरिंग में 4 मरे

जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तानी आतंकवादियों ने एक बार फिर सेना के एक कैंप पर हमला किया है. इस बार आतंकियों ने शोपियां जिले में सेना के कैंप को अपना निशाना बनाया.

खबरों के मुताबिक रविवार देर शाम आतंकियों ने शोपियां जिले के पहनू इलाके में स्थित आर्मी कैंप पर गोलीबारी की. स्थानीय लोगों ने भी यहां पर फायरिंग की आवाज सुनी. इस हमले के जवाब में सेना के जवानों ने भी फायरिंग की.

सेना की ओर से की गई फायरिंग में 1 आतंकी मारा गया. आतंकियों ने रात 8 बजे जवानों के एक काफिले पर फायरिंग की थी. मारे गए आतंकी की पहचान हो गई है. उसका नाम शाहिद अहमद डार था और वह शोपियां के जामनगरी इलाके का रहने वाला था.

1 आतंकी के मारे जाने के बाद सेना की कार्रवाई में तीन और लोगों की मौत हुई. सेना का कहना है कि मारे गए तीनों लोग आतंकी के मददगार थे, वहीं स्थानीय लोगों का कहना है कि ये आम नागरिक थे. इस एनकाउंटर के बाद इलाके में माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है.

बता दें कि इस साल में जम्मू-कश्मीर में सेना और अर्धसैनिक बलों के ठिकानों पर कई आतंकी हमले हो चुके हैं. पिछले महीने आतंकियों ने जम्मू में सुंजवां आर्मी कैंप, श्रीनगर के सीआरपीएफ कैंप और कुपवाड़ा के अवंतीपुरा के CRPF कैंप पर हमला किया था.

बीते हफ्तों में सीमा पर संघर्षविराम तोड़ने की घटनाएं और जम्मू-कश्मीर में सैन्य ठिकानों पर आतंकी हमलों की वारदातें बढ़ गई हैं. भारतीय सेना का कहना है कि संघर्षविराम तोड़ने की आड़ में आतंकी सीमा पार करके भारत में घुस रहे हैं.

इन हमलों के बाद भारतीय सेना ने एक बयान में जानकारी दी थी कि साल 2018 में पाकिस्तान के साथ लगी सीमारेखा पर सतर्कता दिखाते हुए संघर्ष विराम का जवाब दिया गया है. भारतीय सेना की इस कार्रवाई में 20 पाक सैनिकों की मौत हुई है. इसके अलावा सात पाक सैनिक गंभीर रूप से घायल भी हुए.

भारतीय सेना पाकिस्तानी सीमा में तीन किमी अंदर तक सैन्य ठिकानों को निशाना बनाती है. सूत्रों के मुताबिक कम से कम 375-400 आतंकी घुसपैठ की ताक में हैं. वहीं, घाटी में जारी भारतीय सेना के ऑपरेशन ऑलआउट में 218 आतंकी मारे जा चुके हैं.