वामपंथ के गढ़ को ध्वस्त करना एक सपना था : योगी

पूर्वोत्तर राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में, खासकर त्रिपुरा में भारतीय जनता पार्टी के शानदार प्रदर्शन पर रविवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भाजपा नेतृत्व को बधाई दी और कहा कि वामपंथ के गढ़ को ध्वस्त करना उनका सपना था, जो अब साकार हो गया.

भाजपा के प्रदेश मुख्यालय पर आयोजित प्रेसवार्ता में मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्वोत्तर के राज्यों में भाजपा और गठबंधन को मिली सफलता के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को बधाई.

उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर के कार्यकर्ता भी बधाई के पात्र हैं. योगी ने कहा कि त्रिपुरा में वामपंथ के गढ़ को ध्वस्त कर केसरियामय करना एक सपना था.

योगी ने कहा कि पहली बार प्रधानमंत्री ने पूर्वोत्तर के विकास के लिए मुहिम चलाई. सबका साथ, सबका विकास के मंत्र का असर दिखा. यह विकास और सुशासन की जीत है. यह जीत संगठनात्मक कुशलता का प्रतीक है. यहां जाति और धर्म के आधार को पीछे छोड़ भाजपा को समर्थन मिला है. न्यू इंडिया का मंत्र जो प्रधानमंत्री ने दिया है, उसका असर दिख रहा है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्वोत्तर के लिए विशेष पैकेज से लेकर पीएम आवास योजना सहित कई लाभकारी योजनाओं का लाभ वहां के लोगों को मिला. पहली बार त्रिपुरा की जनता को भाजपा पर विश्वास हुआ है. इस जीत का असर दूसरे राज्यों पर भी पड़ेगा.

योगी ने कहा, “अब भारतीय जनता पार्टी कर्नाटक, केरल ही नहीं, बल्कि पश्चिम बंगाल और उड़ीसा में भी जीत का परचम लहराएगी. प्रधानमंत्री का कुशल नेतृत्व और राष्ट्रीय अध्यक्ष का कुशल संगठनात्मक रणनीति हमें जीत दिलाएगी.”

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में एक साल के अंदर जो काम शुरू हुए हैं, आने वाले समय में देश के अन्य राज्यों में भी ऐसे ही काम होंगे. आज कच्छ से कश्मीर और ‘कन्याकुमारी तक’ एक पार्टी का शासन है.

कन्याकुमारी तो तमिलनाडु में है, लेकिन कहने में क्या जाता है!