लेफ्ट भारत के किसी भी हिस्से के लिए राइट नहीं है : अमित शाह

पत्रकारों से बात करते हुए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि ये पूर्वोत्तर के विकास को लेकर पीएम मोदी की प्रतिबद्धता और विकास की राजनीति की जीत है. उन्होंने कहा कि त्रिपुरा में 2013 के चुनावों में बीजेपी को एक भी सीट नहीं मिली थी, बस एक उम्मीदवार ही अपनी जमानत बचा पाया था, लेकिन आज उनकी पार्टी पूर्ण बहुमत में आई है. त्रिपुरा की जनता ने दशकों पुरानी लेफ्ट सरकार को सत्ता से बाहर कर बीजेपी को राज्य के विकास की जिम्मेदारी सौंपी है.

पूर्वोत्तर राज्यों में मिली भारी जीत के बाद बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि पूर्वोत्तर के सभी राज्यों में एनडीए की सरकार बनने जा रही है. त्रिपुरा और नागालैंड में पार्टी को मिली जीत के बाद भी अमित शाह ने कहा कि भले ही बीजेपी ने अच्छी जीत हासिल की है, लेकिन अभी ये बीजेपी का गोल्डन पीरियड नहीं है. उन्होंने कहा कि अभी कर्नाटक, ओडिशा, केरल और पश्चिम बंगाल में चुनाव होने वाले हैं. जब तक इन राज्यों में बीजेपी नहीं आ जाती तब तक पार्टी का गोल्डन पीरियड शुरू नहीं होगा.

पूर्वोत्तर के तीन राज्य मेघालय, नगालैंड और त्रिपुरा में हुए विधानसभा चुनावों के नतीजों की तस्वीर अब साफ हो गई है. त्रिपुरा में भारतीय जनता पार्टी ने लेफ्ट के 25 साल के किले को ध्वस्त कर दिया है. रुझानों में बीजेपी को दो तिहाई बहुमत मिल रहा है. वहीं नगालैंड में भी बीजेपी कड़ी टक्कर दे रही है. मेघालय में कांग्रेस और एनपीपी में कड़ी टक्कर चल रही है.

त्रिपुरा में बीजेपी ने काफी आक्रामक रुख में प्रचार किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी राज्य में कई रैलियों को संबोधित किया. रैली के दौरान उनके निशाने पर सीधे माणिक सरकार थे. रैली में मोदी ने समझाया था कि त्रिपुरा को अब माणिक नहीं बल्कि हीरा की जरूरत है. उन्होंने HIRA का मतलब भी बताया. मोदी ने कहा कि H मतलब हाइवे, I मतलब आई-वे (I-way), R मतलब रोड, A मतलब एयरवे त्रिपुरा की जरूरत है.

BJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने पूर्वोत्तर के तीनों राज्यों के अध्यक्ष व कार्यकर्ताओं को बधाई दी है. शाह ने कहा कि मोदी जी ने शपथ लेते ही एक्ट ईस्ट पॉलिसी के तहत पूर्वोत्तर राज्यों के विकास की कोशिश शुरू कर दी थी. अमित शाह ने कहा कि ये पीएम मोदी के नीतियों की जीत है. चुनाव नतीजों से साफ हो गया है कि लेफ्ट भारत के किसी भी हिस्से के लिए राइट नहीं है.

त्रिपुरा में जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर सभी कार्यकर्ताओं को बधाई दी. उन्होंने लिखा कि त्रिपुरा में जो इस बार हुआ है, वह ऐतिहासिक है. हमारी पार्टी त्रिपुरा को आगे बढ़ाने की पूरी कोशिश करेगी. पीएम मोदी ने लिखा कि पार्टी ने त्रिपुरा में शून्य से शिखर तक का सफर तय किया है. उन्होंने लिखा कि हमारी सरकार राज्य में गुड गवर्नेंस देने का काम करेगी.

त्रिपुरा के बीजेपी अध्यक्ष बिप्लब कुमार देव ने जीत के बाद कहा कि वामपंथी पार्टियां पहले जोर-आजमाइश से सरकार बनाती थी, कार्यकर्ता जीत मनाएं लेकिन काम भी शुरू कर दें. माणिक सरकार ने इस राज्य को अपने पैरों पर खड़े नहीं होने दिया. उन्होंने कहा कि हमारा सबसे पहला काम राज्य में गवर्नेंस देना है, अब राज्य में कानून व्यवस्था का शासन होगा.

केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने कहा कि प्रचार के दौरान हमारा फोकस विकास पर ही रहा. नॉर्थ ईस्ट के लोगों को पहले लगता था कि दिल्ली बहुत दूर है, लेकिन हमारी सरकार ने नॉर्थ ईस्ट के लोगों के लिए काम किया. उन्होंने कहा कि प्रचार में विपक्षी पार्टियों ने बीजेपी के खिलाफ माहौल बनाया. प्रचार में कहा गया कि बीजेपी हिंदू पार्टी है और ईसाईयों के खिलाफ है. झूठी बातों से बीजेपी पर कोई असर नहीं पड़ा.

रिजिजू बोले कि हम पहले ही असम, मणिपुर और अरुणाचल में सरकार बना चुके हैं. और अब नगालैंड और त्रिपुरा में भी पार्टी सरकार बना रही है, जिससे यह संदेश जाता है कि बीजेपी सिर्फ उत्तर भारत की पार्टी नहीं है बल्कि पूरे देश की पार्टी है.

बीजेपी नेता राम माधव ने कहा कि त्रिपुरा में हम सरकार बनाने की स्थिति में हैं. नगालैंड में भी हम अच्छी स्थिति में है. राम माधव ने बताया कि हेमंत शर्मा मेघालय के लिए रवाना हो गए हैं. हमारी कोशिश रहेगी कि हम तीनों राज्य में सरकार बनाने की कोशिश करेंगे.