अब दिल्ली में महिलाओं पर फेंके गए पेशाब भरे गुब्बारे

होली से एक दिन पहले दिल्ली पुलिस के सामने यौन उत्पीड़न के दो मामले सामने आए हैं, जिनमें महिलाओं ने पेशाब भरे गुब्बारे फेंके जाने की शिकायत की है.

पीड़िता ने गुरुवार को अपनी शिकायत में कहा, “गुब्बारा आकर सीधे मेरी छाती पर लगा. मैंने दर्द के कारण नियंत्रण खो दिया और फर्श पर गिर गई. जब तक मैं खुद को संभाल पाती तब तक वो शख्स भाग गया. गुब्बारे में पेशाब भरा था, जिसकी बदबू से जी मिचलाने लगा.”

इसी तरह की घटना ग्रेटर कैलाश में हुई, जहां उत्पीड़न का मामला दर्ज किया गया है.

दिल्ली विश्वविद्यालय के लेडी श्री राम कॉलेज की एक छात्रा ने सोशल मीडिया पर कुछ इसी तरह की शिकायत की. इसके विरोध में एलएसआर छात्र संघ ने पुलिस मुख्यालय के सामने प्रदर्शन किया.

इससे पहले सेमिनार में उन्होंने कहा कि परंपरागत खतरों के अलावा साइबर क्षेत्र में घात के अपरंपरागत खतरे भी हैं. इसके अलावा सोशल मीडिया के जरिये बढ़ते धार्मिक रूढ़िवाद का प्रसार चिंता का विषय है. पाकिस्तान इस्लामिक स्टेट (आईएस) विचारधारा को पूर्व की ओर फैलाने में एक वाहक की तरह कार्य कर रहा है.

इससे पहले बीते शनिवार को दिल्ली यूनिवर्सिटी के श्री राम कॉलेज की एक छात्रा ने सोशल मीडिया पर लिखी एक पोस्ट में कहा था कि गुब्बारे में वीर्य भरकर उसपर फेंका गया था. दरअसल यह छात्रा अपनी फ्रेंड के साथ कॉलेज से ही सटे अमर कॉलोनी में लंच के लिए गई थी.

लंच के बाद हॉस्टल लौटते समय पीछे से कुछ मनचलों ने लिक्विड से भरे गुब्बारे उनके उस पर फेंके. उस वक्त छात्रा को लगा कि होली के मौके पर लोग रंग फेंक रहे हैं. जब वह हॉस्टल पहुंची तो कुर्ता देखकर दंग रह गई, क्योंकि उसके कुर्ते पर वीर्य था.