सीएम रावत ने उत्तराखण्ड में आईआईआईटी खोलने को दी सैद्धांतिक सहमति

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत से मुख्यमंत्री आवास में इंडियन इन्स्टीट्यूट आॅफ इनफाॅर्मेशन टेक्नाॅलाॅजी (आईआईआईटी) के नोडल अधिकारी डाॅ. बीएस गुप्ता ने भेंट की.डाॅ. गुप्ता ने उत्तराखण्ड में एक आईआईआईटी खोलने का अनुरोध किया.

उन्होंने कहा कि इसके लिए 60 से 100 एकड़ भूमि की आवश्यकता पड़ेगी.आईआईआईटी की स्थापना के लिए 50 प्रतिशत की धनराशि केन्द्र से 35 प्रतिशत राज्य से एवं 15 प्रतिशत उद्योग जगत की भागीदारी होती है.मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने उत्तराखण्ड में आईआईआईटी के लिए अपनी सैद्धांतिक सहमति दी.

उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड में इस संस्थान की स्थापना से शिक्षा के ऐसे ढ़ांचे का गठन होगा जो सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में मानव संसाधन तैयार कर सके.उन्होंने कहा कि चयनित प्रभाव क्षेत्रों में सूचना प्रौद्योगिकी को लागू करके अर्थव्यवस्था और उद्योग के सेक्टरों में प्रतिस्पर्धा में महत्वपूर्ण योगदान दे सकती है.

उन्होंने सचिव प्रशिक्षण डाॅ. पंकज पाण्डेय को उत्तराखण्ड में आईआईआईटी की स्थापना हेतु नियमानुसार आवश्यक कार्यवाही करने को कहा.मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि कोई तकनीकि परेशानी नहीं हुई तो आईआईआईटी की स्थापना उत्तराखण्ड में की जायेगी.