वन कर्मियों ने काबू में किया आतंक मचाने वाला टस्कर

धर्मनगरी में पिछले कुछ समय से आतंक मचाने वाले टस्कर हाथियों को वन विभाग की टीम ने बड़ी मशक्कत के बाद काबू में कर लिया है. इन हाथियों ने क्षेत्रों में दहशत फैला रखी थी. करीब एक दर्जन से ज्यादा हमले कर हाथियों ने दो लोगो को मौत के घाट उतारा, छह लोगों को घायल कर दिया.

बीते दो महीनों से हरिद्वार के बीएचईएल मार्ग और टिबड़ी मार्ग पर आतंक मचाने वाले नर हाथी पर आज काबू पा लिया गया है. 15 घंटे चले इस स्पेशल आपरेशन के बाद हरिद्वार के भेल और टिबड़ी मार्ग पर आतंक मचाने वाले टस्कर हाथी को पकड़ लिया गया है. ग्रामीण इलाकों में दो टस्कर हाथी पिछले एक माह से आतंक मचा रहे हैं.

इन हाथियों ने अब तक करीब एक दर्जन हमले किए. इसमें दो की मौत हो चुकी है, जबकि छह लोग घायल हुए. इस हाथी को काबू करने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी. आज रानीपुर के जंगल के निकट एक टस्कर हाथी लोगों को नजर आया. सूचना मिलते ही वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची.

मादा हाथी पर बैठकर वन कर्मी उससे निकट पहुंचे और उसे ट्रंक्यूलाइज्ड करने के लिए गन से फायर किया. इससे हाथी शिथिल हो गया. इसके बाद वनकर्मियों ने हाथी को बेल्ट और चेन से बांधा और क्रेन से उठाकर उसे ट्रक पर चढ़ाया.

अब स्वास्थ्य परीक्षण करने के बाद वनकर्मी हाथी को जंगल में छोड़ देंगे. वहीं, अभी हमलावर दूसरा हाथी वन विभाग की पकड़ से बाहर है. उसकी तलाश की जा रही है.

इस अवसर पर हरिद्वार डीएफओ आकाश वर्मा, राजाजी टाइगर रिजर्व पार्क के डायरेक्टर सनातन सोनकर, वार्डन कोमल सिंह, हरिद्वार रेंजर अनूप गौंसाई, दिनेश नौडियाल, महेश सेमवाल, डा. आदिति शर्मा, राजबीर सिंह, ओपी सिंह समेत पार्क और वन प्रभाग के अधिकारी कर्मचारी शामिल रहे.