काम ठप्प होने के चलते युवक ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

रम्पुरा चौकी क्षेत्र में देर रात एक युवक ने फांसी लगाकर जान दे दी. छत पर लगी लोहे की राड पर लटके युवक को देखकर घरवालों के होश उड़ हो गए. आनन फानन में हादसे की सूचना पुलिस को दी गई. सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से उतार कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा. आत्महत्या की सही वजह तो सामने नहीं आई लेकिन माना जा रहा है कि युवक ने बेरोजगारी के चलते फांसी लगाकर जान दे दी है. पुलिस मामले की तफ्तीश कर रही है.

फिरोज के पिता नजाकत ने बताया कि फिरोज एक टायर पंचर की दुकान पर काम करता था. दो माह पहले उसका काम बंद हो गया. इससे वह थोड़ा परेशान रहता था और नशा भी करने लगा था. हालांकि उनका मानना है कि यह सुसाइड की वजह नहीं हो सकती. आखिर में मौत की वजह क्या है यह अभी साफ नहीं हो सका है.

पहाडग़ंज वार्ड नंबर चार निवासी नजाकत खान के तीन बेटे व छह बेटियां है. इनमें से दूसरे नंबर के बेटे फिरोज की दो साल पहले उन्होंने शहनाज से शादी की थी. एक साल पहले उन्हें बेटी आरोही हुई. घरवालों की मानें तो बीती रात करीब साढ़े आठ बजे फिरोज घर आयाए लेकिन उसने किसी से बात नहीं की और सीधा दूसरी मंजिल पर बने अपने कमरे में चला गया. जबकि पत्नी शहनाज नीचे काम कर रही थी.

रात करीब नौ बजे शहनाज खाने के लिए ऊपर कमरे में गई. कमरे का दरवाजा खुला था और जैसे ही उसने अंदर देखा तो अंदर का नजारा देख कर उसके होश उड़ गए. टीन शेड की छत पर लगे कुंडे से फंसे पत्नी के दुपट्टे के सहारे फिरोज का शव लटक रहा था. पति की लाश देखते ही शहनाज चीख पड़ी. चीख सुनकर घर के अन्य सदस्य भी दौड़ पड़े.