चार डिग्री सेल्सियस पहुंचा शहर का पारा

हल्द्वानी पर तो ठंड कम हो गई है ,लेकिन रुद्रपुर पर ठण्ड कि जकड बनी हुई है. आज भी शहर को कोहरे ने बुरी तरह जकड़ रखा था और ठंड की वजह की कपकपाते लोग अलाव के आगे खड़े नजर आए. इधर, प्रशासन ने सोमवार तक स्कूल को बंद रखने के निर्देश जारी किए थे, लेकिन मंगलवार की भीषण ठंड के बीच भी बच्चे स्कूल जाने को मजबूर हुए. ठंड का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते है कि रात रुद्रपुर का पारा लुढ़क कर चार डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था.

भीषण ठंड और कोहरे की सफेद चादर से ढके शहर में दूर तक देख पाना मंगलवार को संभव नही था. आलम यह था कि सौ मीटर की दूरी तक भी नजर दौड़ा पाना मुश्किल था. ऐसे में हाईवे और शहर की अंदरूनी सड़कों पर वाहन रेंगते नजर आए और उन्हें लाइट जलाकर चलाना मुसाफिरों की मजबूरी हो गई. इधर, ठंड को देखते हुए प्रशासन ने सोमवार तक स्कूल बंद करा दिए थे, लेकिन मंगलवार की ठंड को देखते हुए स्कूलों को बंद किया जाना था. हालांकि ऐसा हुआ नहीं और अल सुबह बच्चे ठंड और कोहरे में ठिठुरते हुए स्कूल पहुंचे.

इधर, रात चार डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किए जाने के बाद दोपहर एक बजे का अधिकतम तामपान 14 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. जो लोगों के लिए मामूली राहत साबित हुई. क्योंकि सूर्य देव ने दर्शन नहीं दिए. इधर, 16 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चली हवा ने भी आम शहरियों के साथ राहगीरों व कामकाजी लोगों की मुश्किलें बरकरार रखी. मौसम विभाग ने मंगलवार को 18 प्रतिशत की नमी भी दर्ज की है. अभी आगे भी कोहरे और ठंड की पूरी उम्मीद बरकरार है.

माना जाता है कि बरसात के बाद कोहरे से निजात मिलना शुरू हो जाता है और इसको देखते हुए रुद्रपुर के लोगों के लिए खुशखबरी भी है. मौसम विभाग की मानें तो जल्द ही रुद्रपर में राहत की बारिश हो सकती है. एक अनुमान के मुताबिक 23 जनवरी से शहर में बारिश की शुरुआत हो सकती है जो अगले तीन दिनों तक जारी रहेगी. बताया जाता है कि 23 जनवरी को 2 एमएम बारिश का अनुमान है. इसी तरह 24 जनवरी को 3 व 25 जनवरी को 2 एमएम बारिश की संभावना है.