यूपी: जहरीली शराब पीने से 10 की मौत, मुआवजे के लिए लोग कह रहे हैं ‘ठण्ड से हुई मौत’

उत्तर प्रदेश में बाराबंकी के देवा व रामनगर क्षेत्र में जहरीली शराब पिने से कई लोगो कि मौत हो गयी है. खबर के मुताबिक 12 घंटे के अंतराल पर 12 लोगों की मौत हो गयी. मरने वालों में 10 की उम्र 22 से 40 साल के बीच थी. दो लोगों की हालत गंभीर है. उन्हें लखनऊ और जिले के अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

सबसे ज्यादा 8 मौतें देवा कोतवाली क्षेत्र में तो दो मौतें रामनगर थाना क्षेत्र में हुईं. एक मृतक की शिनाख्त नहीं हो सकी है. मरने वालों में से तीन लोगों ने सलारपुर गांव में दावत में शराब पी थी. आबकारी मंत्री जय प्रताप सिंह ने बाराबंकी के जिला आबकारी अधिकारी से रिपोर्ट तलब की है. मौतों के बाद आबकारी विभाग के अफसर जागे और अपनी गर्दन बचाने के लिए टीमें गांवों में भेजी जो दिनभर खाक छानती रही. रात में सात शव पोस्टमार्टम के लिए ले जाए गए.

देवा कोतवाली क्षेत्र के देवगांव निवासी नौमीलाल (40) को मंगलवार की देर रात करीब सवा दो बजे जिला अस्पताल पहुंचाया गया. पेटदर्द व उल्टी से पीड़ित नौमीलाल ने कुछ ही मिनट में दम तोड़ दिया. नौमीलाल की मौत के कारणों का पता लग पाता, उससे पहले सुबह करीब सवा 6 बजे देवा के ही मुन्नी का पुरवा गांव निवासी कमलेश कुमार(26) को गंभीर हालत में जिला अस्पताल पहुंचा गया. कुछ देर बाद उसकी भी मौत हो गई. देवा के ही सलारपुर गांव निवासी सत्यनाम व एक अज्ञात व्यक्ति को भी पेटदर्द व उल्टी की शिकायत होने पर जिला अस्पताल लाया गया. जिनमें से सत्यनाम की सुबह मौत हो गई. दूसरे की हालत गंभीर है.

सुबह करीब 10 बजे देवा थाना क्षेत्र के जनसनवारा गांव निवासी युवक अनिल कुमार(26) व रीवा रतन गांव निवासी उमेश कुमार (22) को गंभीर हालत में जिला अस्पताल लाया गया. उन्हें चिकित्सकों ने ट्रामा सेंटर लखनऊ रेफर किया गया. लोहिया अस्पताल में इलाज के दौरान दोपहर में उमेश की मौत हो गई, जबकि अनिल कुमार की हालत गंभीर बनी हुई है. उधर देवगांव निवासी देवीशरण को पेटदर्द और उल्टी की शिकायत पर लखनऊ के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया.

कांशीराम (28) पुत्र मतऊ व उसके ममेरे भाई अवनीश (29) पुत्र बलधारी की मौत हुई थी. परिजनों ने बताया कि दोनों देवा कोतवाली क्षेत्र के सलारपुर में अपने साढ़ू के घर दावत खाने गए थे. वापस लौटते ही उन्होंने पेटदर्द की शिकायत की. जिसके बाद उन्हें उल्टी होने लगी. परिजनों ने शराब पीए होने की बात भी पुलिस को बतायी.

उधर देवा थाना क्षेत्र के ढिढोरा गांव निवासी राकेश कुमार (40), मुन्नी का पुरवा गांव के रामफल गौतम (27)व जसनवारा गांव के माता प्रसाद की भी मंगलवार की रात को अचानक हालात बिगड़ने के बाद गांव में ही मौत हो गयी.

देर रात देवा कोतवाली क्षेत्र में दो और लोगों की मौत हो गई. दोनों मौतें जहरीली शराब या स्प्रिट पीने से मानी जा रही हैं. इसमें एक की शिनाख्त रामसुरेश (45) पुत्र सियाराम निवासी कुर्खिला के रूप में हुई. उसका शव दादा मियां मजार के पास गड्ढे में मिला.

खबर के मुताबिक आबकारी के अफसरों ने मृतकों के परिवारीजनों पर दबाव बनाया कि वे मौतों को ठंड से होने की बात कहें तभी उनको मुआवजा मिलेगा. इसके बाद तीन मृतकों के परिवारीजनों ने कहा कि इनकी मौत ठंड लगने से हुई है. इनके घरवालों ने शराब पीने की बात से इनकार किया.