सीएम योगी की गाड़ी के आगे कूदा युवक, जानिए क्‍या था उसका मकसद

सीएम योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा में बड़ी चूक का मामला सामने आया है. लोक भवन में एक कार्यक्रम के सिलसिले में जाने के दौरान एक युवक ने मुख्यमंत्री की फ्लीट के सामने छलांग लगा दी.सीएम योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा में बड़ी चूक का मामला सामने आया है. जब सीएम योगी विधानसभा के लोक भवन में आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए जा रहे थे. उसी दौरान एक युवक उनकी गाड़ी के आगे कूद गया. सीएम की सुरक्षा में हुई चूक को लेकर भी जांच की जा रही है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के काफिले के आगे कूदने वाले युवक के खिलाफ हजरतगंज पुलिस ने गंभीर आरोप में मामला दर्ज कर उसे जेल भेज दिया. सोनभद्र में हो रहे अवैध खनन के विरोध में कई बार मुख्यमंत्री से गुहार लगा चुके युवक श्याम मिश्रा ने सुनवाई ना होने से खिन्न होकर सीएम के काफिले के आगे कूद गया . श्याम काफी समय से बीजेपी के कुछ नेताओं के खिलाफ अवैध खनन का आरोप लगाते रहे हैं.इस मामले के संबंध में श्याम मिश्रा ने बताया कि वह बीते कई महीनों से अवैध खनन पर रोक लगाने के लिए अधिकारियों व मंत्रियों के चक्कर लगा रहा था, लेकिन इस पर कोई सुनवाई नहीं हुई. इसी कारण परेशान होकर योगी आदित्यनाथ के काफिले के सामने कूद गया.

श्याम का कहना है कि अवैध खनन के चलते राज्य की जनता को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. सीएम योगी की सुरक्षा में तैनात पुलिस के जवानों ने युवक को हिरासत में ले लिया. पुलिस टीम पीड़ित युवक से पूछताछ कर रही है कि उसके आरोपी में कितनी सच्चाई है.सोनभद्र से आए इस युवक श्याम जी मिश्रा ने सोनभद्र से भारतीय जनता पार्टी सदर विधायक तथा भाजपा के जिलाध्यक्ष पर अवैध खनन का आरोप लगाया है. इससे आहत होकर श्याम मिश्रा ने मुख्यमंत्री की फ्लीट के सामने छलांग लगा दी. लोकभवन के गेट पर सोनभद्र ओबरा निवासी श्याम जी मिश्रा (30) ने किया सीएम की फ्लीट के आगे कूदने का प्रयास. उसको सुरक्षा कर्मियों ने पकड़ा और हजरतगंज पुलिस को सौंप दिया है.

सीएम योगी आदित्यनाथ की फ्लीट की गाड़ी के पीछे राज्यपाल राम नाईक, डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा व महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस की गाडिय़ां थीं.श्याम ने सोनभद्र के भाजपा जिला अध्यक्ष अशोक कुमार मिश्रा और सदर विधायक भूपेश चौबे पर बालू और गिट्टी खनन का आरोप लगाया है. उसने बताया कि वह लखनऊ के लक्ष्मण मेला ग्राउंड में कई बार जिलाध्यक्ष और विधायक पर कार्रवाई की मांग एवं खनन के विरोध को लेकर अनशन कर चुका है.
श्याम जी मिश्रा का कहना है कि 6 महीने से अवैध खनन पर रोक लगाने के लिए अधिकारियों व मंत्रियों के चक्कर लगा चुका हूं, लेकिन कोई मेरी सुनने वाला नहीं है. इससे आहत होकर आज हमने मुख्यमंत्री की फ्लीट के सामने लगाई छलांग.

उसने भाजपा के जिला अध्यक्ष अशोक मिश्रा और राबर्ट्सगंज के विधायक भूपेश दुबे पर अवैध खनन का आरोप लगाया है. उसने कहा कि 2200 की परमिट 14000 में बेची जा रही है और अवैध खनन के चलते वहा की जनता अपना आशियाना नहीं बना पा रही है.
उसको हर बार आश्वासन देकर लौटा दिया जाता है. शनिवार को चौकी इंचार्ज गौतम पल्ली के साथ मुख्यमंत्री आवास पर सीएम से मुलाकात करने गया था. वहां मुलाकात न होने पर लोक भवन के गेट पर पहुंचा. मुख्यमंत्री के आगमन की जानकारी पर मीडिया कर्मियों के बीच खड़ा हो गया था. जैसे ही मुख्यमंत्री की फ्लीट पहुंची तो उसने कूदने का प्रयास किया.