कांग्रेस की मांग- खेल मंत्री अरविंद पांडे को किया जाए बर्खास्त, आज राज्यपाल से मिलेगा विपक्ष

महिला खिलाड़ियों के यौन उत्पीड़न से संबंधित खेल मंत्री के बयान पर राज्य सरकार द्वारा कोई कार्रवाई न होने से नाराज प्रदेश कांग्रेस शनिवार को राजभवन जाएगी. शनिवार को पार्टी का एक शिष्टमंडल राज्यपाल डॉ. केके पॉल से मिलेगा और उनसे गैर जिम्मेदाराना बयानबाजी पर खेल मंत्री अरविंद पांडे को बर्खास्त करने की मांग करेगा.

इसके अलावा कांग्रेस निकायों के सीमा विस्तार का मामला भी राज्यपाल से उठाएगी. इस मुद्दे पर कांग्रेस आंदोलन पर है. शुक्रवार को पार्टी कार्यकर्ताओं ने अस्थायी राजधानी देहरादून में धरना दिया. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने मुख्यमंत्री से मांग की कि वह बयान पर सरकार का रुख साफ करें.

शुक्रवार को कांग्रेस कार्यकर्ता राजपुर रोड स्थित गांधी पार्क के बाहर इकट्ठा हुए, जहां वे धरने पर बैठ गए. पूर्व कैबिनेट मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी के पूर्व घोषित इस कार्यक्रम में प्रदेश अध्यक्ष व पार्टी के पदाधिकारी शामिल हुए.

इस दौरान कांग्रेस नेताओं ने सीमा विस्तार और परिसीमन को लेकर राज्य सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने आरोप लगाया कि सत्ता की ताकत के जरिए उन इलाकों को भी निकायों में शामिल किया जा रहा है जो, अनिच्छुक हैं.

उन्होंने कहा कि वोटों का गणित और चुनाव अपने पक्ष में करने के लिए निकायों के सीमा विस्तार और परिसीमन की कवायद चल रही है, जिसका कांग्रेस पूरी तरह से विरोध करती है. धरने में पूर्व मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी, प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना, महामंत्री नवीन जोशी, राजेंद्र सिंह भंडारी, सुरेन्द्र रांगड़, गोदावरी थापली, मुख्य प्रवक्ता मथुरादत्त जोशी, मुख्य कार्यक्रम समन्वयक राजेन्द्र शाह, महानगर अध्यक्ष पृथ्वीराज चौहान, प्रवक्ता डॉ. आरपी रतूड़ी, दीप बोहरा आदि मौजूद थे.

निकायों के सीमा विस्तार के मुद्दे पर पूर्व कैबिनेट मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी ने सरकार के खिलाफ धरना देने का ऐलान किया था. लेकिन उनका यह धरना कायदे से दो ही दिन चला. पहले दिन कांग्रेसी जुटे, लेकिन शुक्रवार को कांग्रेस कार्यकर्ता धरने से कन्नी काट गए. प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह की मौजूदगी के बावजूद मंत्री के धरने में भीड़ नहीं जुट पाई. सीमा विस्तार के विरोध में कांग्रेसियों में गुस्सा और जोश की कमी साफ दिखाई दी.