मार्च में होगा किसान मेले का आयोजन

पंतनगर विश्वविद्यालय का 103वां किसान मेला 9 से 12 मार्च 2018 को आयोजित होगा. किसान मेला की सलाहकार समिति की बैठक विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एके मिश्रा की अध्यक्षता में प्रशासनिक भवन में स्थित उनके सभागार में सम्पन्न हुई. विश्वविद्यालय के निदेशक प्रसार शिक्षा डा. वाईपीएस डबास ने समिति के सदस्य सचिव के रूप में बैठक का संचालन किया.

इस बैठक में निर्णय लिया गया कि 103वें किसान मेले का आयोजन स्थल पूर्व की भांति गांधी मैदान ही रहेगा. किसानों की आय में वृद्धि हेतु उनके कृषि कार्यों में व्यय को कम करने के लिए जीरो टिलेज द्वारा बुवाई को और अधिक प्रचारित किए जाने की आवश्यकता को देखते हुए बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि इस किसान मेले में किसानों को जीरो टिलेज तकनीक पर विस्तृत व्याख्यान एवं प्रस्तुतिकरण दिया जाएगा. साथ ही उन्हें इस तकनीक को खेत पर प्रदर्शित भी किया जाएगा. इससे समय के साथ साथ किसानों के व्यय में भी काफी कमी की जा सकेगी.

यह भी निर्णय हुआ कि संरक्षित खेती व मधुमक्खी पालन में रॉयल जैली के उत्पादन पर भी किसानों को इसी प्रकार के व्याख्यान व प्रदर्शन दिए जाएंगे, ताकि किसान इन तकनीकों को अपनाकर अपनी आय में वृद्धि कर सकें. इस मेले में किसानों के हित में चल रही केन्द्र व राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं की जानकारी देने हेतु भी एक व्याख्यान दिया जाएगा.

कई अन्य बिन्दुओं, जैसे किसान मेले में किसानों के रात्री विश्राम हेतु बेहतर व्यवस्था, स्टॉल धारकों की रसीद काटा जाना, किसान गोष्ठी एवं वैज्ञानिक व्याख्यान हेतु एलईडी लगाए जाने के लिए विषेष व्यवस्था, किसान मेला का बजट, इत्यादि पर चर्चा की गई. किसान मेले में बीजों की उपलब्धता को सुनिश्चित किए जाने तथा खाद्य पदार्थों व उनके स्टॉलों पर स्वच्छता एवं सफाई बनाए रखने पर विशेष बल दिया गया.