हाफिज सईद की रैली में फिलिस्तानी राजदूत की मौजुदगी पर भारत ने जतायी नाराजगी

पाकिस्तान में फलस्तीन के राजदूत ने 26/11 मुंबई आतंकी हमलों के मास्टर माइंड और आतंकी संगठन जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद की रैली में हिस्सा लिया है. फलस्तीन के सामने भारत उसके राजदूत के इस कदम पर पुरजोर शब्दों में विरोध दर्ज कराएगा.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, ‘हमने इस संबंध में रिपोर्ट देखी है. हम नई दिल्ली में फलस्तीन के राजदूत और फलस्तीनी अधिकारियों के सामने इस मुद्दे को उठाने जा रहे हैं.’विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने रैली में फलस्तीन के राजदूत के शामिल होने संबंधी खबर और तस्वीर सामने आने के बाद प्रतिक्रिया व्यक्त की.

मीडिया में आई रिपोर्ट के मुताबिक, इस्लामाबाद में फलस्तीन के राजदूत वालिद अबू अली ने रावलपिंडी के लियाकत बाग में डिफा-ए-पाकिस्तान काउंसिल की ओर से आयोजित रैली में हिस्सा लिया. यह रैली शुक्रवार सुबह आयोजित की गई थी. डिफा-ए-पाकिस्तान (डिफेंस ऑफ पाकिस्तान) काउंसिल पड़ोसी देश में एक इस्लामिक संगठन है.

इस काउंसिल में हाफिज सईद का संगठन जमात-उद-दावा भी शामिल है.रिपोर्ट में कहा गया है कि रैली में फलस्तीन के राजदूत का भाग लेना भारत के लिए धक्का है. संयुक्त राष्ट्र महासभा में यरूशलम पर अमेरिका के फैसले खिलाफ भारत के मतदान करने के एक सप्ताह बाद यह घटना घटी है.