मुस्लिम महिला संगठन ने तीन तलाक विधेयक पास होने को बताया महिलाओं की जीत

तीन तलाक के खिलाफ लंबी लड़ाई लड़ने वाले संगठन ‘भारतीय मुस्लिम महिला आंदोलन’ (बीएमएमए) ने गुरुवार को लोकसभा में विधेयक पारित होने का स्वागत करते हुए कहा कि यह मुस्लिम महिलाओं की बड़ी जीत है.

बीएमएमए की सह-संस्थापक नूरजहां सफिया नियाज ने एक बयान में कहा, ‘यह बड़ा कदम है और मुस्लिम महिलाओं की जीत है. उम्मीद है कि कानून बनने के बाद तीन तलाक पर पूरी तरह अंकुश लगेगा.’

उन्होंने मांग की कि निकाह हलाला, बहुविवाह और शादी की उम्र जैसे मुद्दों को भी कानून के दायरे में लाया जाए. लोकसभा ने गुरुवार को मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) विधेयक, 2017 को मंजूरी दी.