चीन दे रहा भारत को ये सलाह…

बीजिंग|…. गुरुवार को चीनी सेना ने डोकलाम मुद्दा हल करने को साल की प्रमुख अंतरराष्ट्रीय सैन्य सहयोग उपलब्धि बताते हुए नई दिल्ली को सलाह दी कि भारत को सीमा पर तैनात अपने सैनिकों पर ‘सख्ती से नियंत्रण’ करना चाहिए.सीमा पर शांति और स्थिरता बनाए रखने के लिए तय समझौतों का पालन करना चाहिए.

चीनी सेना के प्रवक्ता कर्नल रेन ग्यूकियांग ने 2017 में अपने देश के अंतरराष्ट्रीय सैन्य सहयोग पर प्रकाश डाला.उन्होंने कहा कि चीनी सेना ने इस साल कई मुद्दों को आसानी से सुलझाया.इनमें से एक डोकलाम जैसा संवेदनशील मुद्दा भी था.
कर्नल रेन ने यहां संवाददाताओं को बताया, ‘इस साल, संयुक्त तैनाती के तहत, चीनी सेना ने दृढ़ता के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा हितों और संप्रभुता की रक्षा की है.’

एक सवाल के जवाब में रेन ने कहा, भारत-चीन सीमा पर डोकलाम जैसे मुद्दे को हमारे देश की सेना ने सही तरीके से निपटाया.इसके अलावा दक्षिण चीन सागर में भी राष्ट्रीय सुरक्षा हितों के लिए काम किया.सिक्किम, चीन और भूटान सीमा पर स्थित डोकलाम पठार पर पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के अतिक्रमण के बाद 16 जून को दोनों देशों की सेनाओं के बीच गतिरोध पैदा हो गया था.

चीन ने इस इलाके में सड़क का निर्माण शुरू कर दिया था.उसने भूटान के इस इलाके पर अपना दावा जताया था.इस पर भारतीय सेना ने आपत्ति जताई थी.चीन के निर्माण रोकने के बाद दोनों देशों के बीच आपसी सहमति से यह गतिरोध 28 अगस्त को समाप्त हुआ था.जम्मू-कश्मीर से अरुणाचल प्रदेश तक भारत की चीन के साथ 3,488 किलोमीटर लंबी वास्तविक सीमा रेखा लगती है.