‘पाकिस्तान का व्यवहार अत्यंत अशिष्ट, मानवीय भावों की उड़ाई धज्जियां’

कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी के साथ पाकिस्तान में हुए व्यवहार को लेकर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने गुरुवार को संसद में बयान दिया. विदेश मंत्री ने राज्यसभा में अपने संबोधन में कहा कि पाकिस्तान ने मुलाकात को लेकर बेअदबी की इंतेहा पार की. पाक इससे ज्यादा शर्मनाक हरकत नहीं कर सकता.विदेश मंत्री ने कहा कि अपने बेटे से मिलने गई एक मां और पति से मिलने गई पत्नी के साथ पाकिस्तान ने बेहद बुरा व्यवहार किया.

मुलाकात के पहले सिर्फ कुलभूषण की पत्नी ही नहीं बल्कि उनकी मां के भी चूड़ी, बिंदी और मंगलसूत्र उतरवा दिए गए. उनके कपड़े बदलवाए.विदेश मंत्री ने कहा कि कुलभूषण की मां ने पाक के इस व्यवहार पर कहा भी कि मंगलसूत्र उनके सुहाग की निशानी है उसे ना उतारें लेकिन वो नहीं माने. ऐसा करते हुए पाकिस्तान में एक बेटे और पति के सामने उसकी मां और पत्नी को विधवाओं की तरह पेश किया.

अपनी मां को इस तरह देख कुलभूषण को इस बाद की गलतफहमी भी हुई कि उनके पीछे घर में कोई अशुभ घटना हो गई है.सुषमा स्वराज के अनुसार कुलभूषण की भी स्थिति ठीक नहीं थी. वहां से लौटी उनकी पत्नी ने बताया कि कुलभूषण अस्वस्थ्य लग रहे थे और ऐसा लग रहा था कि वो वही बातें कह रहे हैं जो उन्हे कहने के लिए मजबूर किया गया था.कुलभूषण की पत्नी के जूतों के मुद्दे पर विदेश मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान ने कुलभूषण की पत्नी के जूतों को संदिग्ध मानते हुए रख लिया लेकिन उसका झूठ इस बात से सामने आ जाता है कि जिन जूतों को पहनकर कुलभूषण की पत्नी इतने सुरक्षा मानकों को पार करके वहां पहुंची उनमें अंत में पाकिस्तान को शक हुआ, यह कैसे संभव है.

विदेश मंत्री ने कहा कि हमारे उच्चायुक्त को भी दोनों से अलग कर दिया गया और वो इसके चलते कुलभूषण की मां और उनकी पत्नी से हुए व्यवहार को रोक नहीं पाए. हम पाकिस्तान के इस शर्मनाक व्यवहार की निंदा करते हैं.विदेश मंत्री के बयान के बाद सदन में कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद ने उसका समर्थन जताते हुए कहा कि पाकिस्तान द्वारा कुलभूषण की मां और पत्नी के साथ हुआ बुरा व्यवहार सिर्फ उनके नहीं पूरे देश के साथ हुआ है. राजनीतिक मतभेदों से इतर अगर कोई हमारे देश की मां और बेटी के साथ इस तरह का व्यवहार करेगा तो हम सब उसका साथ मिलकर विरोध करेंगे.

बता दें कि कुलभूषण की मां और पत्नी के साथ पाक में हुए व्यवहार को लेकर पूरे देश में गुस्सा है और भारत- पाकिस्तान के बीच भी बयानबाजी जारी है.इससे पहले बुधवार को लोकसभा में यह मुद्दा गर्माया रहा. मुलाकात से पहले जाधव की मां और पत्नी के मंगलसूत्र, बिंदी और चूड़ियां उतारने को लेकर सांसदों ने पार्टी लाइन से ऊपर उठकर पाकिस्तान के रवैये की निंदा की और सरकार से जवाब मांगा.लोकसभा में बुधवार को सुबह से ही कई मुद्दों पर माहौल गरमाया हुआ था.

शोर-शराबे के बीच शिव सेना सांसद अरविंद सावंत ने कहा कि जिस तरह से जाधव की मां और पत्नी का अपमान हुआ है उस पर भारत को चुप नहीं बैठना चाहिए. इसके बाद कांग्र्रेस के मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि पाकिस्तान की तरफ से जो किया गया है हम उसकी भर्त्सना करते हैं. तृणमूल सांसद सौगत राय ने पाकिस्तान के इस रवैये को बेहद निंदनीय बताया.

अन्नाद्रमुक के एम थम्बीदुरै ने कहा कि मंगलसूत्र और बिंदी किसी भी हिदू महिला के लिए सम्मान की चीज होती है. इसे उतरवाना आपत्तिजनक है. यह देश का अपमान है. इस दौरान सत्ता पक्ष के सासंदों ने पाकिस्तान हाय-हाय के नारे भी लगाए.सनद रहे कि भारत सरकार पहले ही जाधव के परिवार के साथ हुए व्यवहार को लेकर सख्त प्रतिक्रिया जता चुका है. भारत ने इस पूरे मुलाकात को ही आंखों में धूल झोंकने वाला करार दिया है. जाधव की मां और पत्नी से सुरक्षा के नाम पर बिंदी और मंगलसूत्र उतरवाने को भारत ने सांस्कृतिक व धार्मिक भावनाओं की अवहेलना माना है.