केजरीवाल को मेट्रो के उद्घाटन पर नही बुलाने पर AAP ने माँगा चंदा

यूपी के नोएडा के बोटेनिकल गार्डन से दक्षिणी दिल्ली के कालकाजी मंदिर को जोड़ने वाली मेजेंटा लाइन के उद्घाटन समारोह में राज्य के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को नहीं बुलाए जाने पर खूब राजनीति हुई लेकिन अब दिल्ली की सत्ताधारी पार्टी इस मौके को भुनाने की कोशिश में है.

मेजेंटा लाइन का उद्घाटन 25 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में किया था. इस कार्यक्रम में दिल्ली के सीएम को न्योता नहीं दिया गया था जिससे पार्टी के नेता काफी नाराज हैं.

पार्टी ने इस ‘अपमान’ को कैश कराने का फैसला किया है. पार्टी की ओर से कहा गया है कि जो लोग सीएम केजरीवाल को उद्घाटन समारोह में न बुलाने से नाराज हैं वो पार्टी को चंदा देकर अपना गुस्सा जाहिर करें. सत्‍तारूढ़ पार्टी ने इस घटना से नाराज लोगों को पार्टी को 100 रुपये का चंदा देकर अपने गुस्‍से का इजहार करने को कहा है.

आम आदमी पार्टी ने पार्टी से ई-मेल और फेसबुक के जरिए पार्टी से जुड़े लोगों को मैसेज भेजकर चंदा देने की अपील की है. पार्टी के फेसबुक पेज पर डाले गए एक पोस्ट में कहा गया, ‘दिल्ली के मुख्यमंत्री को मेट्रो की मेजेंटा लाइन के उद्घाटन के लिए नहीं बुलाया गया, अगर आप गुस्सा हैं तो चंदा दें.’ उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इसे दिल्ली के लोगों का अपमान बताया.

ई-मेल के साथ एक लिंक भी भेजा जा रहा है जो सीधे AAP को चंदा देने वाली वेबसाइट पर खुलता है. इस पर पार्टी प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा, “जब भी केंद्र सरकार द्वारा AAP को दबाने का प्रयास किया जाता है, जब भी दिल्ली की निर्वाचित सरकार पर हमला होता है. तब भारत के लोग खड़े होते हैं और पार्टी का समर्थन करते हैं. चंदा इस तरह के समर्थन की सिर्फ एक अभिव्यक्ति है.”

दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन में दिल्ली सरकार की 50 प्रतिशत हिस्सेदारी के बावजूद केजरीवाल को इस कार्यक्रम में न बुलाने पर AAP ने केंद्र सरकार से दिल्ली सरकार की हिस्सेदारी वापस करने तक की मांग कर दी थी.