मेट्रो किराया बढ़ोतरी पर बवाल काटने वाले केजरीवाल ने दिल्ली में पानी किया महंगा

हर महीने 20,000 लीटर से ज्यादा पानी की खपत करने वाले दिल्लीवासियों को आगामी एक फरवरी से 20 फीसद ज्यादा की दर से भुगतान करना होगा. दिल्ली जल बोर्ड ने मंगलवार को पानी की दरों में बढ़ोतरी को मंजूरी दे दी.

जल मामलों का प्रभार संभालने वाले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में यह फैसला किया गया. विपक्षी बीजेपी एवं कांग्रेस ने इस फैसले की आलोचना की है. दोनों पार्टियों ने आम आदमी पार्टी के प्रमुख केजरीवाल को निशाने पर लेते हुए कहा कि वह मेट्रो के किराए में हुई बढ़ोतरी का विरोध करते हैं, लेकिन खुद पानी की दरें बढ़ा रहे हैं.

दिल्ली सरकार ने स्पष्ट किया कि इस बढ़ोतरी से 15 फीसदी से ज्यादा उपभोक्ताओं पर असर नहीं पड़ेगा, क्योंकि करीब 85 फीसदी परिवार 20,000 लीटर पानी हर महीने नि:शुल्क उपभोग करने वाली योजना के दायरे में आते हैं.

जल बोर्ड के उपाध्यक्ष दिनेश मोहनिया ने कहा कि सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों और नए पाइपों पर 18 फीसदी जीएसटी लागू होने के कारण वित्तीय दिक्कतों के कारण पानी की दरों में यह इजाफा करना पड़ा है.