पीएम की मौजूदगी में दूसरी बार रुपाणी की हुई ताजपोशी, इनको भी मिली मंत्रिमंडल में जगह

मंगलवार को गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर दूसरी बार विजय रूपाणी ने शपथ ली . रूपाणी दूसरी बार गुजरात के सीएम बने हैं. वह गुजरात के राजकोट पश्चिम विधानसभा सीटे से विधायक बने हैं. गुजरात में भाजपा लगातार छठी बार सरकार बना रही है. रूपाणी के साथ डिप्टी सीएम के तौर पर नितिन पटेल ने शपथ लिया. रूपाणी की नई कैबिनेट में कई पुराने और नए चेहरों सहित 20 लोग शामिल हैं.

इसके साथ ही आरसी फालदू ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ लिया. वो गुजरात भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके हैं. भुपेन्द्रसिंह चुडासमा ने शपथ लिया. वो अहमदाबाद के धोलका से विधायक बने हैं. कौशिश पटेल ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. नारानपुर से विधायक बने हैं. नए चेहरे के तौर पर उन्हें कैबिनेट में शामिल किया गया है.

कैबिनेट में ये नए चेहरे
विजय रूपाणी के मंत्रिमंडल में करीब बीस मंत्रियों को जगह मिली है. इसमें कैबिनेट के तौर पर कौशिक पटेल जो कि नारानपुरा सीट से विधायक चुने गये हैं. वो विजय रूपाणी की मंत्रिमंडल में कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ लिया. इसके अलावा भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष आरसी फालदू भी कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ लिया.

ये हैं पूरी कैबिनेट मंत्री की लिस्ट
नितिन पटेल डिप्टी सीएम और कैबिनेट मंत्री के तौर पर भुपेन्द्रसिंह चुडासमा, आरसी फालदू, कौशिक पटेल, सौरभ पटेल, गनपत वसावा, जयेश रादडिया, दिलीप ठाकोर और ईश्वर भाई परमार ने शपथ लिया.

राज्य मंत्री के तौर पर ये चेहेरे
रूपाणी सरकार में राज्यमंत्री के तौर पर प्रदीप सिंह जडेजा, जयद्रथ सिंह परमार, पत्रकार रमनलाल नानुुभाई, परषोत्तम सोलंकी, ईश्वर सिंह पटेल, अहिरभाई, किशोर कनानी, बचू भाई खाबड और देवा विधावरी शपथ लेंगे.

ये दिग्गज रहे उपस्थित
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, लालकृष्ण आडवाणी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, परिवहन मंत्री नीतिन गडकरी के अलावा भाजपा शासित और राजग शासित राज्यों के मुख्यमंत्री समारोह में मौजूद थे. इसके साथ ही विभिन्न धर्मो के संतों और गुरु भी शपथ ग्रहण समारोह में उपस्थित थे.

राज्य में भाजपा को 99 सीट
पार्टी ने 182 सदस्यीय गुजरात विधानसभा के हाल ही में संपन्न चुनाव में 99 सीटें जीती हैं. इस चुनाव में भाजपा को 2012 के चुनाव से 16 सीटें कम मिली हैं. कांग्रेस को उस समय 61 सीटें मिली थीं. इस बार कांग्रेस को 77 सीटों पर जीत हासिल हुई. रुपाणी और पटेल को 22 दिसंबर को भाजपा विधायक दल का नेता और उपनेता चुना गया.