अब नहीं खा पाएंगे MC Donald”s का बर्गर, बंद हुए 50 फीसदी आउटलेट्स

मैकडॉनल्ड्स के संयुक्त उद्यम के साझेदार रहे विक्रम बख्शी  ने जानकारी दी है कि पूर्वी भारत में लगभग सभी रेस्तरां बंद हो चुके हैं और उत्तरी क्षेत्र में कई अन्य बंद होने के कगार पर पहुंच गए हैं.

आपको जानकारी के लिए बता दें कि राधाकृष्ण फूडलैंड की ओर से आपूर्ति रोके जाने की वजह से 80 रेस्तरां प्रभावित हुए हैं. गौरतलब है कि मैकडॉनल्ड्स और बक्शी के बीच विवाद लंबे समय से जारी है. इन आउटलेट्स के बंद होने का प्रमुख कारण लॉजिस्टिक सहयोगी की ओर से आपूर्ति को बंद करना रहा है.

राधाकृष्ण फूडलैंड प्राइवेट लिमिटेड ने सीपीआरएल को 20 दिसंबर को एक पत्र लिखा था, जिसमें कहा गया कि वह मात्रा कम होने तथा भविष्य की अनिश्चितता जैसे कारणों के चलते कुछ अतिरिक्त राशि का भुगतान नहीं होने की वजह से आपूर्ति को रोक रहा है. जानकारी के लिए बता दें कि कनॉट प्लाजा रेस्ट्रांट्स लिमिटेड (सीपीआरएल) बक्शी और मेक डॉनल्ड्स इंडिया का संयुक्त उद्यम है.

मैकडोनाल्ड्स ने अगस्त 2017 में कनाट प्लाजा रेस्टोरेंट लिमिटेड (सीपीआरएल) के साथ फ्रेंचाइजी कांट्रेक्ट रद कर दिया था. बख्शी के साथ स्थापित यह संयुक्त उपक्रम 169 मैकडोनाल्ड्स आउटलेट का संचालन करता है.

बख्शी ने बताया, “पूर्वी भारत में लाजिस्टिक सहयोगी के कदम के चलते मैकडॉनल्ड्स के सभी आउटलेट्स बंद हो चुके हैं और उत्तर भारत में अन्य आउटलेट्स पर भी प्रभावित सप्लाई चेन के कारण बंद करने का दबाव है. फिलहाल सीमित भंडार के कारण कुल 80 रेस्तरां इस तरह के दबाव में हैं.”