300 ऑनलाइन कोर्स हिंदी में शुरू करेगी सरकार

मानव संसाधन मंत्रालय  हायर एजुकेशन को डिजिटल बनाने की कोशिशो में लगा है इसके लिए ऑनलाइन पोर्टल स्वयम पर हिंदी और 10 अन्य भारतीय भाषाओं में लगभग 300 ऑनलाइन कोर्स पेश करेगी. इन कोर्स का मकसद सॉफ्ट स्किल्स को विकसित  करना और एजुकेशन को बेहतर बनाना है. कोर्स के अंत में परीक्षाएं पास करने के बाद छात्रों को सर्टिफिकेट दिए जाएंगे.

हिंदी के साथ ही उड़िया, तमिल और कन्नड़ जैसी भाषाओं में ये कोर्स उपलब्ध होंगे.अगले तीन महीनों में शुरू होने वाले ये कोर्स क्लाउड कंप्यूटिंग, इंजिनियर्स के लिए टेक्निकल इंग्लिश, मैनेजमेंट अकाउंटिंग, डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम और ऐडवर्टाइजमेंट ऐंड पब्लिसिटी जैसे विषयों पर होंगे.

मानव संसाधन मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया, ‘इसमें अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचने का लक्ष्य है. देश में विभिन्न भाषाओं के साथ 22 राज्य हैं. हम सामान्य भाषाओं के जरिए अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचना चाहते हैं.’कोर्स को इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी दिल्ली और चेन्नई के प्रफेसरों की अगुवाई में एक्सपर्ट्स की एक टीम विकसित कर रही है. स्वयम देश में विकसित एक आईटी प्लैटफॉर्म है. इस पर कहीं भी और किसी भी समय कोर्स तक पहुंचा जा सकता है. अधिकारियों ने बताया कि मिनिस्ट्री विदेशी इंस्टिट्यूट्स से भी कोर्स और फैकल्टी को लाने पर विचार कर रही है.

लगभग 76 यूनिवर्सिटीज ने स्वयम के जरिए किए गए कोर्स के क्रेडिट ट्रांसफर को पहले ही अनुमति दी है. स्वयम एक MOOC (मैसिव ऑनलाइन ओपन कोर्स) प्लैटफॉर्म है. इसकी शुरुआत एचआरडी मिनिस्ट्री ने इस वर्ष जुलाई में की थी. अधिकारियों ने बताया कि हिंदी और क्षेत्रीय भाषाओं में कोर्स शुरू करने से छात्रों की संख्या बढ़ाने में मदद मिलेगी. सरकार 2018 तक स्वयम पर एक करोड़ एनरोलमेंट का लक्ष्य हासिल करना चाहती है.