सीमा पर पाक ने बरसाए ‘आग के गोले’, मेजर और 3 जवान शहीद

पाकिस्तानी सेना ने नियंत्रण रेखा पर फिर बड़ी नापाक हकरत की है. पाकिस्तान ने जम्मू संभाग के राजौरी जिले के केरी सेक्टर में आतंकियों की घुसपैठ करवाने के लिए जमकर गोलाबारी की.इसमें भारतीय सेना के एक मेजर तथा तीन जवान शहीद हो गए. वहीं एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया. इस घटना से सीमा पर तनाव का माहौल है.

सेना के उच्चाधिकारी मौके पर मौजूद रहकर स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं.पाकिस्तान ने जब सीमा पर यह नापाक हरकत की तब जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती राजौरी में ही थीं और लोगों की समस्याएं सुन रहीं थीं.
शहीदों की पहचान दो सिख लाई यूनिट के मेजर मोहारकर प्रफुल्ल अंबादास निवासी जिला भंडारा महाराष्ट्र, लांस नायक गुरमेल सिह निवासी अमृतसर, सिपाही परगट सिह निवासी करनाल, हरियाणा व लांस नायक कुलदीप सिह निवासी पंजाब के रूप में हुई है.

जानकारी के अनुसार, मेजर अंबादास अपने जवानों के साथ केरी सेक्टर के बरातगला क्षेत्र में सीमा पर गश्त कर रहे थे. इसी दौरान पाकिस्तानी सेना ने घुसपैठ करवाने के लिए आतंकियों को कवर फायर देते हुए गोलाबारी शुरू की दी, जिसकी चपेट में आने से मेजर व दो जवान मौके पर ही शहीद हो गए जबकि एक लांस नायक व एक जवान को घायल होने पर तुरंत ऊधमपुर के कमान अस्पताल ले जाया गया, जहां लांस नायक ने दम तोड़ दिया.

मेजर व लांस नायक का पार्थिव शरीर ऊधमपुर व अन्य दो जवानों के राजौरी में 150 जनरल अस्पताल में पहुंचाए गए. रविवार सुबह चारों का पोस्टमार्टम करवाने के बाद उनके घरों की ओर रवाना कर दिया जाएगा. इस बीच, सेना के प्रवक्ता ने पाकिस्तानी गोलाबारी में मेजर सहित भारतीय जवानों की शहादत की पुष्टि करते हुए कहा कि हमारे जवानों ने भी पाकिस्तान को कड़ा जवाब दिया. उन्होंने कहा कि जवानों का यह बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा.

मुख्यमंत्री ने शहीदों के परिजनों के प्रति जताई संवेदना
मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और उपमुख्यमंत्री डॉ. निर्मल सिंह ने राजौरी के केरी सेक्टर में सेना के एक मेजर और तीन जवानों की शहादत पर उनके परिजनों के प्रति संवदेना जताई है. उपमुख्यमंत्री ने अपने संदेश में कहा कि जवानों का यह बलिदान हमेशा याद रहेगा. उन्होंने शहीदों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना भी की.