आखिर चारा घोटाले पर कोर्ट की मुहर, लालू पहुंचे जेल

बहुचर्चित चारा घोटाला मामले में कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है और अब सस्पेंस खत्म हुआ, लालू अब अपना नया साल जेल में ही मनाएंगे.कोर्ट का फैसला सुनते ही लालू ने कहा- ये क्या हुआ? लालू शायद जगन्नाथ मिश्रा के बरी होने की खबर के बाद आश्वस्त थे कि उन्हें भी बरी ही कर दिया जाएगा, लेकिन अदालत के फैसले ने लालू को परेशानी को बढ़ा दिया.

फिलहाल लालू को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और उन्हें होटवार जेल ले जाया जा रहा है.लालू की सजा का एलान अब तीन जनवरी को होगा.लालू यादव के साथ ही पंद्रह आरोपियों को दोषी करार दिया गया है और जगन्नाथ मिश्रा सहित सात लोगों को रिहा कर दिया गया है.इस मामले में लालू की 1990 की अर्जित संपत्ति भी अटैच की जाएगी.

तीन बजे के बाद शुरू हुई थी कोर्ट की कार्रवाई
सभी आरोपियों के कोर्ट पहुंचते ही कोर्ट की कार्रवाई शुरू हुई और इस बहुप्रतीक्षित मामले में कोर्ट ने आज अपना फैसला सुनाया है.कोर्ट के बाहर काफी संख्या में राजद के नेता और कार्यकर्ताओं की भीड़ लगी रही.सीबीआई के जज शिवपाल सिंह ने लालू यादव का फैसला सुनाया.

काफी इंतजार के बाद आया ये बड़ा फैसला
पहले फैसले का समय सुबह ग्यारह बजे तय था, लेकिन लालू यादव के वकील चितरंजन प्रसाद ने जानकारी दी थी कि ग्यारह बजे के बदले अब दोपहर तीन बजे तक फैसला सुनाया जाएगा.उसके बाद लगातार इंतजार जारी था और तीन बजे के बाद जज ने यह फैसला सुनाया.

लालू ने कोर्ट जाने से पहले कहा-भाजपा को उखाड़ फेंकेंगे
आज सुबह साढ़े दस बजे के बाद जैसे ही लालू यादव रांची स्थित रेलवे के गेस्ट हाउस से कोर्ट के निकले, उन्हें पार्टी कार्यकर्ताओं ने घेर लिया.कोर्ट जाने से पहले लालू ने कहा कि फैसला जो भी आए सभी लोग संयम बरतें, मैं बिहार की जनता का आभारी हूं.उन्होंने कहा कि न्यायालय पर पूरा भरोसा है, फैसला जो भी आए हर आदमी लालू यादव बनकर बीजेपी के खिलाफ खड़ा होगा और भाजपा को जड़ से उखाड़ फेंकेगा.