पीएम के खिलाफ ‘नीच’ टिप्पणी को लेकर कांग्रेस कार्यसमिति में अनुशासनहीनता पर चर्चा

राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष पद संभालने के बाद हुई कांग्रेस कार्यसमिति की पहली बैठक में शुक्रवार को उठाए गए महत्वपूर्ण मुद्दों में से एक पार्टी में अनुशासनहीनता का भी था. इस मुद्दे को मणिशंकर अय्यर द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ की गई उस टिप्पणी की पृष्ठभूमि में उठाया गया, जिसमें उन्होंने पीएम मोदी के लिए ‘नीच’ शब्द का इस्तेमाल किया था.

कांग्रेस कार्यसमिति के कुछ सदस्यों ने किसी का नाम लिए बगैर यह मुद्दा उठाते हुए कहा कि कुछ नेता ‘अप्रासंगिक’ बयान दे रहे हैं, जिससे पार्टी को नुकसान हो रहा है और चुनावी संभावनाओं पर भी प्रतिकूल असर पड़ रहा है.

कांग्रेस कार्यसमिति (सीडब्ल्यूसी) पार्टी की सर्वोच्च निर्णायक संस्था है. कुछ दिन पहले वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एम. वीरप्पा मोईली ने कहा था कि गुजरात चुनाव के प्रचार में राहुल गांधी के उतरने का जो फायदा मिलना था वह अय्यर और कपिल सिब्बल के विवादित बोलों के कारण संभवत: नहीं मिल पाया.

सूत्रों ने बताया कि राहुल ने भी इस मुद्दे को उठाने वाले सीडब्ल्यूसी सदस्यों से सहमति जताई. ऐसा बताया जाता है कि उन्होंने बैठक में कहा, ‘हम सुनिश्चित करेंगे कि अनुशासन लागू हो और पार्टी मजबूत हो.’ पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पार्टी के समक्ष चुनौतियों की बात की और नेताओं को और जवाबदेह बनाने पर जोर दिया.