फिलीपींस में तूफान से मरने वालों की संख्या 90 पहुंची

दक्षिणी फिलीपींस में उष्णकटिबंधीय तूफान ‘टेमबिन’ की वजह से भारी बारिश के बाद 90 लोगों की मौत हो गई और 50,000 से ज्यादा लोग विस्थापित हुए. समाचार एजेंसी ने आपदा प्रबंधन अधिकारी के हवाले से बताया कि मृतकों में से 19 लानाओ डेल नोर्टे, तीन बुकिडनोन और एक इलिगन प्रांत से हैं. मनीला अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे की 21 उड़ानें भी रद्द कर दी गई हैं.

यहा मिट्टी धंसने के कारण पूरा एक गांव तबाह हो गया और एक अन्य नगर इसकी चपेट में आ गया. क्षेत्रीय पुलिस की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि मिंडानो द्वीप के तुबोद नगर में 19 लोगों के मरने की खबरें सामने आई हैं जहां उष्णकटिबंधीय तूफान टेंबिन के कारण आई भीषण बाढ़ और मिट्टी धंसने के कारण पूरे एक गांव का वजूद ही खत्म हो गया.

तुबोद के पुलिस अधिकारी गैरी परामी ने मीडिया को बताया, “नदी में उफान आया और ज्यादातर घर उसमें बह गए. वहां अब गांव को कोई नामोनिशां नहीं बचा.” परामी ने बताया कि तुबोद के पास स्थित दलामा गांव में शवों की बरामदगी के लिए पुलिस, सैनिकों और स्वयंसेवियों ने फावड़े की मदद से मिट्टी और मलबा हटाने का प्रयास किया.

सिविल रक्षा अधिकारी सरीपदगा पाकासुम ने मीडिया को बताया कि बाढ़ के कारण चट्टानें नीचे गिरीं जिससे पियागापो में करीब 40 घर उजड़ गए जिससे कम से कम 10 लोगों की मौत हो गई.

उन्होंने बताया, “हमने बचावकर्मी वहां भेजे हैं लेकिन चट्टानों के कारण उन्हें ज्यादा सफलता नहीं मिल पा रही है.” फिलीपींस को औसतन हर साल 20 बड़े तूफानों का सामना करना पड़ता है लेकिन दो करोड़ लोगों की जनसंख्या वाला मिंदानो इन तूफानों से बमुश्किल ही प्रभावित होता है.

पाकासुम ने बताया कि लनाओ डेल सर प्रांत में बाढ़ के कारण आठ अन्य लोगों की मौत हो गई.

पुलिस ने बताया कि बुकिदनोन और जामबोआंगा सिबुगे प्रांतों के तीन-तीन लोग भूस्खलन के कारण मारे गए और इलिगान शहर में भी एक की मौत की खबर सामने आई है.

उन्होंने बताया कि चार लोग लापता हैं और 12,000 से ज्यादा लोगों को घर छोड़ने पर मजबूर होना पड़ा. टेंबिन से एक हफ्ते पहले ही उष्णकटिबंधीय तूफान काई टक ने मध्य फिलीपींस में भयंकर तबाही मचाई थी जिसमें 54 लोगों की मौत हो गई थी और 24 लोग लापता हो गए थे.