मारुति सुजुकी का पहला इलेक्ट्रिक वाहन 2020 तक

देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी ने कहा कि इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) को वहनीय बनाने के लिए सरकारी प्रोत्साहनों की जरूरत होगी. उल्लेखनीय है कि देश में पर्यावरण अनुकूल मोबिलिटी समाधानों पर जोर दिया जा रहा है. कंपनी की 2020 तक भारत में पहला ईवी पेश करने की योजना है और वह इस यात्रा की तैयारी में ग्राहकों की राय जानने के लिए अध्ययन करवाएगी.

क्या देश में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढावा देने के लिए सरकारी प्रोत्साहन की जरूरत होगी यह पूछे जाने पर भार्गव ने संवाददाताओं से कहा, ‘मेरी राय में इसकी जरूरत होगी. मेरी सोच तो यही कहती है कि कुछ हस्तक्षेप की जरूरत पड़ेगी लेकिन पता नहीं यह कितना होगा.’ उन्होंने कहा कि चूंकि भारतीय वाहन उद्योग के लिए इलेक्ट्रिक वाहन नयी चीज है इसलिए यह कहना मुश्किल है कि कितनी सरकारी मदद की जरूरत होगी.

मारुति सुजुकी इंडिया के चेयरमैन आर सी भार्गव ने यहां कहा कि वहनीयता एक प्रमुख चुनौती है जिसका सामना ईवी को करना होगा. ऐसे वाहनों की सफलता के लिए जरूरी है कि बैटरियों व अन्य कलपुर्जों का विनिर्माण भारत में ही करने पर ध्यान केंद्रित किया जाए ताकि उनकी लागत कम हो.