आसियान देशों के साथ संबंध चीन से प्रभावित नहीं : भारत

भारत ने परोक्ष रूप से चीन का हवाला देते हुए मंगलवार को कहा कि आसियान के साथ भागीदारी का उसका स्तर सहयोग के अवसर से निर्धारित है और किसी तीसरे देश से प्रभावित नहीं है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि म्यांमार सेतु के तौर पर आसियान देशों के साथ काम करता है यही वजह है कि भारत ने कलादान मल्टी-मॉडल पारगमन परिवहन परियोजना की शुरुआत की, जिसमें भारत-म्यांमार-थाइलैंड त्रिपक्षीय राजमार्ग है.

इस परियोजना से भारतीय किसानों को बड़ा फायदा होगा और कारोबारी अपने उत्पाद दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों में बेच सकेंगे.

दक्षिण चीन सागर में चीन से मुकाबला करने के लिए भारत आसियान देशों की किस तरह मदद कर सकता है, इस संबंध में एक सवाल पर कुमार ने कहा, ‘किसी अन्य के कारण हम उनकी मदद को नहीं आए.’

चीन का नाम लिए बिना उन्होंने कहा, ‘इसी तरह, भारत और आसियान सहयोग के लिए साथ आए क्योंकि साथ मिलकर काम करना है. ऐसा किसी तीसरे देश के कारण नहीं है.’