एक और बाबा पर लगा यौन शोषण का आरोप, हाई कोर्ट ने दिए छापामारी के आदेश

आध्यात्मिक विश्वविद्यालय के बाबा वीरेंद्र दीक्षित पर आध्यात्मिक शिक्षा के नाम पर नाबालिग लड़कियों और महिलाओं को बंधक बनाकर रखने और यौन शोषण के इलज़ाम के चलते दिल्ली हाईकोर्ट ने नई दिल्ली के रोहिणी स्थित आध्यात्मिक विश्वविद्यालय पर सीबीआई को छापे मारने के आदेश दिए.

मंगलवार को महिला आयोग कि अध्यक्ष स्वाति मालीवाल और दिल्ली पुलिस ने छापेमारी को अंजाम दिया.इस दौरान घंटों चले छापे के बाद पुलिस ने विश्वविद्यालय से बाबा की एक अनुयाई युवती और एक बुजुर्ग चौकीदार को हिरासत में लिया है.

संस्थान पर एक एनजीओ ने लड़कियों और महिलाओं को बंधक बनाकर रखने का आरोप लगाया था,और एक पीड़ित युवती ने भी सामने आकर कोर्ट से बयान में कहा, कि उसके अभिभावकों ने उसका दो महीने के कोर्स के लिए यूनिवर्सिटी में दाखिला करवाया गया था इस दौरान उसके साथ यौन शोषण किया गया.

ऐक्टिंग चीफ जस्टिस गीता मित्तल और जस्टिस सी. हरिशंकर की बेंच ने कहा था कि यह बहुत खतरनाक है कि महिलाओं और लड़कियों को भगवान का संदेश देने के नाम पर अवैध रूप से बंधक बनाकर रखा जा रहा है.मंगलवार को जांच कराने का आदेश देते हुए बेंच ने निर्देश दिया कि पूरी प्रक्रिया की विडियॉग्रफी हो और दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति जयहिंद पुलिस के साथ रहें.