यरुशलम मामले में अलग-थलग पड़ा अमेरिका, UN में मित्र राष्ट्रों ने भी नहीं दिया साथ

संयुक्त राष्ट्र।… अमेरिका ने यरुशलम को इस्राइल की राजधानी के तौर पर मान्यता देने के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के फैसले को खारिज करने वाले संयुक्त राष्ट्र के एक मसौदा प्रस्ताव पर सोमवार को वीटो कर दिया. सुरक्षा परिषद के 14 अन्य सभी सदस्यों ने प्रावधान का समर्थन किया.

अमेरिकी राजदूत निक्की हेली द्वारा वीटो किया जाना अमेरिकी दूतावास को तेल अवीव से यरुशलम ले जाने के ट्रंप के फैसले पर वाशिंगटन का अलग थलग पड़ना दिखाता है.

सुरक्षा परिषद के 15 सदस्यों में अमेरिका के मित्र देशों- ब्रिटेन, फ्रांस, इटली, जापान और यूक्रेन समेत 14 देशों ने प्रावधान का समर्थन करते हुए जोर दिया कि यरुशलम के दर्जे पर किसी भी फैसले का ‘कानूनी प्रभाव नहीं है’ और यह निष्प्रभावी है.