पेट्रोलियम प्रोडक्‍ट्स को GST के दायरे में लाने के पक्ष में केंद्र – अरुण जेटली

वित्त मंत्री अरुण जेटली (फाइल फोटो)

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि सरकार पेट्रोलियम प्रोडक्‍ट्स को जीएसटी के दायरे में लाने के पक्ष में है. राज्‍य सभा में मंगलवार को पूर्व फाइनेंस मिनिस्‍टर और कांग्रेस लीडर पी. चिदंबरम की ओर से पूछे गए सवाल के जवाब में जेटली ने यह जानकारी दी.

राज्‍य सभा में पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस लीडर चिदंबरम ने कहा, ”अब बीजेपी 19 राज्‍यों में सत्ता में है. केंद्र में भी उसकी सरकार है, तो उन्‍हें पेट्रोलियम प्रोडक्‍ट्स को जीएसटी के दायरे में लाने से कौन रोकता है. जीएसटी काउंसिल इस मसले को कब उठाएगी?”

जवाब में जेटली ने कहा कि पेट्रोलियम प्रोडक्‍ट्स को जीएसटी के अंदर लाने के मसले पर हम राज्‍यों की आम सहमति का इंजतार करेंगे. उम्‍मीद है कि राज्‍य देर-सवेर इस मसले पर सहमत हो जाएंगे.

राज्‍य सभा में कांग्रेस के हंगामे के मसले पर जेटली ने कहा कि विपक्ष के नेता समेत अपने सभी सहयोगियों को आमंत्रित करेंगे और हर मसले का चर्चा के साथ हल निकालने का प्रयास करेंगे.