19 राज्यों में लहरा रहा बीजेपी का भगवा झंडा, 5 राज्यों तक सिमटी कांग्रेस

हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस से सत्ता हासिल करके और गुजरात में सरकार बनाए रखने में सफल रहने के साथ बीजेपी ने सोमवार को विधानसभा चुनावों में अपनी विजय यात्रा को जारी रखा जो उसने 2014 में केंद्र की सत्ता में आने के बाद शुरू की थी.

इन दोनों राज्यों में जीत के साथ भाजपा अब 19 राज्यों में स्वतंत्र रूप से या अपने गठबंधन सहयोगियों के साथ सरकार चला रही है. केवल पांच राज्यों में कांग्रेस की सरकारें हैं.

गुजरात में भाजपा ने 99 सीटें हासिल की हैं, जो बहुमत के जादुई आंकड़े से सात ज्यादा हैं. हिमाचल प्रदेश में उसने 68 सीटों में से 44 पर जीत दर्ज कर जबरदस्त प्रदर्शन किया है.

हालांकि अपने नए अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में प्रदर्शन में कुछ सुधार करने वाली कांग्रेस ने अधिकतर एक्जिट पोल के नतीजों को धता बता दिया, जहां उसका आंकड़ा गुजरात में 61 से 77 के बीच रहने का अनुमान लगाया गया था.

सोमवार के परिणामों के साथ कांग्रेस की हार का क्रम लगातार बना हुआ है, जहां वह पिछले कुछ विधानसभा चुनावों में केवल पंजाब में जीती है. इसके अलावा वह कर्नाटक, मेघालय, मिजोरम और पुडुचेरी में सरकार चला रही है.

लोकसभा चुनावों के बाद हर चुनाव के साथ देश में भाजपा का आधार बढ़ता गया है. नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने और अमित शाह के बीजेपी की कमान संभालने के बाद से बीजेपी ने महाराष्ट्र, हरियाणा, झारखंड, असम, उत्तराखंड, गोवा, अरुणाचल प्रदेश और मणिपुर में कांग्रेस को सत्ता से बेदखल किया है.

कर्नाटक में अगले साल चुनाव होने हैं. इन राज्यों के अलावा भाजपा केवल उन राज्यों में हारी, जहां वह पहले भी कभी सत्ता की मजबूत दावेदार नहीं रही. इनमें पश्चिम बंगाल, केरल और तमिलनाडु हैं.

बिहार चुनाव में वह हार गई थी, लेकिन अब फिर से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ सरकार में सहयोगी बन गई है.