अधिकारी समय से बजट का सदुपयोग करेः प्रकाश पंत

वित्त मंत्री, जनपद प्रभारी मंत्री प्रकाश पन्त ने कहा  दिसम्बर योजनाओं के पारदर्शी, गुणवत्ता युक्त व समय बद्ध तरीके से क्रियान्वयन हेतु प्रत्येक न्याय पंचायत स्तर पर निगरानी के लिए एक एक नोडल अधिकारी शीघ्र नामित करना सुनिश्चित करें. यह निर्देश  प्रकाश पन्त ने जिला योजना समिति की बैठक लेते हुए मुख्य विकास अधिकारी को दिए. जनपद प्रभारी मंत्री ने कहा कि न्याय पंचायत स्तर पर क्रियान्वित की जा रही योजनाओं के गुणवत्ता युक्त बनाये जाने, समय से पूरा कराने की पूर्ण जिम्मेदारी नामित अधिकारियों की होगी.

उन्होंने नामित अधिकारियों को आवंटित न्याय पंचायत पर संचालित होने वाले सभी कार्यों पर पैनी नजर बनाए रखने के तथा मुख्य विकास अधिकारी व जिलाधिकारी को समय सयम पर न्याय पंचायत स्तर पर जाकर योजनाओं का मौका मुआयना करने के निर्देश दिए. उन्होने सभी अधिकारियों को कार्य समय से पूर्ण करने, कार्यों में गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने तथा 50 प्रतिशत से अधिक पूर्ण हो चुकी, निर्विवाद योजनाओं को प्राथमिकता से पूरा करने के निर्देश दिए.

उन्होंने अधिकारियों को समय से बजट का सदुपयोग करने के निर्देश दिए. उन्होंने कार्यों में पारदर्शिता व गुणवत्ता लाने के लिए समय समय पर योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा करने व योजनाओं का स्थलीय निरीक्षण कर भौतिक सत्यापन करने के निर्देश जिलाधिकारी को दिए. उन्होंने कहा कि उनके द्वारा भी समयसमय पर जिला योजना की समीक्षा व योजनाओं का भौतिक सत्यापन किया जाएगा ताकि योजनाएं समय से धरातल पर उतर सके. उन्होंने जिले में सुचारू रूप से पेयजल आपूर्ति के लिए पॉच वर्ष की कार्य योजना तैयार करने के निर्देश मुख्य विकास अधिकारी को दिए. उन्होंने कहा कि प्राथमिकता के आधार पर हर वर्ष योजनाओं का चयन किया जाएगा.

उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि युद्ध स्तर पर विकास कार्य करते हुए बजट का समय से उपयोग करना सुनिश्चित करें. उन्होंने कहा कि जिला योजना के अन्तर्गत जिन योजनाओं का शिलांयास व लोकार्पण किया जाए वे शासन द्वारा जारी दिशानिर्देशानुसार हो. प्रभारी मंत्री ने बताया कि माह के अन्तिम शुक्रवार को जनपद में बहुद्देशीय शिविर का आयोजन व योजनाओं का स्थलीय निरीक्षण किया जाएगा, इसी क्रम में 29 दिसम्बर को जसपुर में बहुद्देशीय शिविर आयोजित किया जाएगा.

बैठक में क्षेत्रीय विधायक राजकुमार ठुकराल ने इण्डिया मार्का हैण्ड पम्पों की गुणवत्ता ठीक न होने के कारण इन्हें न लगाए जाने व इण्डिया मार्का हैण्ड पम्पों की जॉच कराने को कहा. बैठक में जिलाधिकारी डॉ.नीरज खैरवाल ने बताया कि जनपद में जिला योजना से 09 स्थलों पर बहुद्देशीय भवन बनाए जाएंगे इसके लिए प्रत्येक भवन हेतु 5 लाख की धनराशि जिला योजना से, 8 लाख की मनरेगा से व 4 लाख की धनराशि अन्य मदों से खर्च की जायेगी.

उन्होंने बताया कि ऊर्जा संरक्षण के उद्देश्य से 60 हजार एलईडी बल्बों पर 2020 रूपये का अनुदान देकर महिला स्वयं सहायता समूहों, प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के लाभार्थियों, स्वच्छ भारत मिशन योजना के अन्तर्गत निर्मित व्यक्तिगत शौचालय वाले परिवारों को वितरित किये जायेंगे. इससे प्रतिवर्ष 78 लाख यूनिट बिजली की बचत होगी वहीं 234 लाख रूपये की बचत होगी. ज्ञात हो कि वर्ष 2017-18 हेतु जनपद की अनुमोदित जिला योजना 52 करोड़ 09 लाख 58 हजार की है.

जिलाधिकारी ने कहा कि बैठक में जो भी दिशा निर्देश दिए गए हैं, उनका कडाई से अनुपालन कराया जाएगा. बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष ईश्वरी प्रसाद गंगवार,विधायक राजकुमार ठुकराल, हरभजन सिंह चीमा, सौरभ बहुगुणा, आदेश सिंह चौहान, प्रेम सिंह राणा, राजेश शुक्ला, जिलाधिकारी डॉ.नीरज खैरवाल, मुख्य विकास अधिकारी आलोक कुमार पाण्डेय सहित थे.