छात्रा से गले मिलने पर छात्र को स्कूल से किया बाहर, कोर्ट पहुंचे माता-पिता

केरल के तिरुअनंतपुरम जिले के सेंट थॉमस सेंट्रल स्कूल में 12वीं क्लास के स्टूडेंट को स्कूल से निकाले जाने के विरोध में अब माता-पिता ने हाई कोर्ट डिविजन में अपील करने का फैसला लिया है. स्कूल ने 16 वर्षीय स्टूडेंट को एक छात्रा से गले मिलने पर निष्कासित कर दिया था.11वीं में पढ़ने वाली छात्रा ने एक आर्टस कॉम्पिटीशन में प्राइज जीता था, इस मौके पर छात्र उससे गले मिला था.

गले मिलने के अलावा स्कूल प्रशासन ने छात्र को सोशल मीडिया पर तस्वीरें जारी करने पर डिसिप्लिन कोड तोड़ने का भी दोषी पाया गया. थॉमस चर्च एजुकेशनल सोसायटी के सेक्रटरी राजन वर्गीज ने बताया कि जांच आयोग की रिपोर्ट के बाद छात्र को ट्रांसफर सर्टिफिकेट जारी किया गया.

घटना 21 जुलाई की है. तिरुअनंतपुरम के सेंट थॉमस सेंट्रल स्कूल में आर्ट प्रतियोगिता में एक छात्रा के प्राइज जीतने के बाद उसके साथ पढ़ने वाले एक छात्र ने उसे गले मिलकर बधाई दी थी. यह वहां मौजूद शिक्षकों को अनुचित लगा.

इसके बाद छात्र ने सोशल मीडिया पर भी तस्वीर अपलोड कर दी थीं, जिससे स्कूल प्रबंधन और नाराज हो गया. डिसिप्लिनरी जांच के बाद स्कूल प्रबंधन ने सितंबर में छात्र को निष्कासित करने का फैसला किया.

इस निष्कासन के विरोध में छात्र के माता पिता ने केरल बाल आयोग में गुहार लगाई. 4 अक्टूबर को केरल बाल आयोग ने स्कूल को आदेश दिया कि छात्र को स्कूल आने और क्लासेस अटेंड करने दिया जाए. इसके खिलाफ स्कूल प्रबंधन ने हाई कोर्ट में याचिका लगाई. कोर्ट ने कहा कि बाल आयोग सुझाव दे सकती है, लेकिन स्कूल में अनुशासन बनाए रखने की जिम्मेदारी प्रिंसिपल की है और बाल आयोग इसमें दखल नहीं दे सकता.