दूसरी भाषाएं सीखनी चाहिए, लेकिन मातृ भाषा को न भूलें : उपराष्ट्रपति

उप-राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने शुक्रवार को कहा कि स्कूलों में बच्चों को उनकी मातृ भाषा में शिक्षा दी जानी चाहिए ताकि वे भाषा की अहमियत से वाकिफ हो सकें.

विश्व तेलुगू सम्मेलन 2017 के उद्घाटन भाषण में उप-राष्ट्रपति ने तेलंगाना निवासी पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव के तेलुगू साहित्यिक कार्यों की भी सराहना की.

नायडू ने कहा कि बचपन से ही तेलुगू भाषा पर जोर दिया जाना चाहिए. बच्चों को तेलुगू भाषा की सुंदरता के बारे में शिक्षा देनी चाहिए. दूसरी भाषाएं सीखने में कुछ गलत नहीं है. लेकिन हमें अपनी मातृ भाषा का भी इस्तेमाल नहीं भूलना चाहिए.