मोदी ने नॉर्थ-ईस्ट में ‘वाजपेयी सरकार’ के सपने को आगे बढ़ाने का दिया आश्वासन

शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूर्वोत्तर दौरे पर मिजोरम पहुंचे. वहां उन्होंने तुइरियाल हाइड्रो पावर प्रॉजेक्ट का उद्घाटन किया. इस दौरान पीएम ने पूर्वोत्तर के राज्यों को संबोधित करते हुए कहा कि आपको किसी भी तरह की समस्याओं के लिए दिल्ली आने की जरूरत नहीं है, दिल्ली के अधिकारी खुद आपकी समस्याओं को दूर करने के लिए आपतक पहुंचेंगे. पीएम ने कहा कि हमने इस पॉलिसी को मिनिस्ट्री ऑफ डोनर (मिनिस्ट्री फॉर डिवलपमेंट ऑफ नॉर्थ ईस्टर्न रीजन) नाम दिया हैं.

मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी का जिक्र करते हुए कहा कि वाजपेयी सरकार में पूर्वोत्तर राज्यों के विकास के लिए कई महत्वपूर्ण कार्य किए गए. उन्होंने कहा कि हम उसी सोच को और आगे ले जाना चाहते हैं. उन्होंने कहा, ‘यही वजह है कि हमारा पूरा फोकस पूर्वोत्तर राज्यों पर है. हमारे मंत्री लगातार यहां दौरे कर रहे हैं और विकास को गति देने की कोशिश जारी है.’

पीएम ने इस दौरान कहा कि मिजोरम में ऐसे कई इलाके हैं जहां बिजली की व्यवस्था नहीं है. हमारा मकसद है कि हर घर में बिजली का कनेक्शन हो. उन्होंने वादा किया कि सरकार गरीबों को मुफ्त बिजली कनेक्शन देगी.

इस दौरान पीएम ने हाइड्रो पावर प्रॉजेक्ट को केंद्र सरकार का अहम प्रॉजेक्ट बताते हुए इसकी शुरुआत पर खुशी जाहिर की. मोदी ने कहा कि अटल जी ने इसका सपना देखा था. हालांकि बाद की सरकारों ने इसमें देरी की लेकिन उन्हें खुशी है कि आज यह प्रॉजेक्ट पूरा हो गया है.

न्यू इंडिया के विजन को सामने रखते हुए पीएम ने कहा कि 2022 के लिए हम सभी को मिलकर काम करना होगा. उन्होंने कहा कि इसके लिए जरूरी है कि हम देश को आर्थिक मजबूती की दिशा में काम करें. इसके साथ ही हमें यह भी ध्यान रखना होगा कि इसका फायदा देश के हर तबके तक पहुंचे. भारतमाला प्रॉजेक्ट का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि हम इसके जरिए उत्तर-पूर्व में हाईवे और सड़कों का जाल बिछाएंगे.