सीएम रावत ने विजय दिवस पर गांधी पार्क में शहीदों को दी श्रद्धांजलि

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शनिवार को गांधी पार्क, देहरादून में विजय दिवस के अवसर पर शहीद स्मारक पर पुष्प चक्र अर्पित कर शहीदों को श्रद्धांजलि दी. मुख्यमंत्री ने कहा कि 16 दिसम्बर 1971 को भारतीय सेना ने पाकिस्तान के 90 हजार सैनिकों को आत्मसमर्पण करने के लिए मजबूर कर दिया. जिसके परिणामस्वरूप राजनैतिक परिवर्तन हुआ और बंग्लादेश के रूप में नए राष्ट्र का उदय हुआ. पाकिस्तान पर भारत की इस विजय ने भारत की रणनीति, राजनीति एवं अन्तर्राष्ट्रीय सम्बन्धों को वैश्विक स्तर पर नई पहचान दिलाई.

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस युद्ध में उत्तराखण्ड के 248 सैनिकों ने अपने प्राणों की आहुति दी एवं 78 वीर सैनिक घायल हुए. 1971 के युद्ध में उत्तराखण्ड के 74 रणबांकुरों को वीरता पदक से सम्मानित किया गया. जिसमें से 36 वीर जवान देहरादून के थे. मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड की पहचान एक सैन्य प्रदेश के रूप में है. सम्पूर्ण भारत में देवभूमि एवं वीरभूमि उत्तराखण्ड को वीर सैनिकों की वजह से विशिष्ट पहचान मिली है. उत्तराखण्ड की सैनिक पृष्ठभूमि का प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से देश में सरहना होती है. उन्होंने कहा कि वर्तमान में उत्तराखण्ड की अनेक विभूतियां सुरक्षा के क्षेत्र में उच्च पदों पर कार्य कर रहे हैं, जो प्रदेश के लिए गौरव का विषय है.

सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत, डीजी कोस्टगार्ड राजेन्द्र सिंह एवं तमाम मिलिट्री आपरेशन से जुड़े मसलों में उत्तराखण्ड के निवासी प्रतिनिधत्व कर रहे हैं. उन्होने कहा कि सैनिक एवं अर्द्धसैनिक बलों मे ड्यूटी के दौरान वीरगति को प्राप्त होने वाले उत्तराखण्ड के निवासी के आश्रित को राज्य सरकार द्वारा उनकी शैक्षिक योग्यता के आधार पर सेवायोजित किया जायेगा. इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने वीरता पदक प्राप्त उत्तराखण्ड के 428 सैनिकों व शहीद सैनिकों के परिवारजनों को सम्मानित किया.

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने रिस्पना नदी एवं कुमांऊ की कोसी नदी को पुनर्जीवित करने का निर्णय लिया है. इसकी जिम्मेदारी ईको टास्क फोर्स को दी गई है. उन्होंने इन नदियों के पुनर्जीवीकरण के लिए जनता से जनसहयोग की अपील की है. इस अवसर पर मेयर/विधायक विनोद चमोली, विधायक गणेश जोशी, विधायक कुंवर प्रणव चैंपियन, जनरल आनन्द स्वरूप, जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कर्नल डी.के.कौशिक ने भी शहीद स्मारक पर पुष्पचक्र अर्पित कर शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि दी.