बीजेपी से जल्द अलग हो जाएगी शिवसेना : आदित्य ठाकरे

केंद्र में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और महाराष्ट्र की सहयोगी शिवसेना के रिश्तों में खटास आ गई है. शिवसेना की युवा इकाई के अध्यक्ष आदित्य ठाकरे ने कहा कि वह महाराष्ट्र में एक साल के अंदर बीजेपी से गठबंधन तोड़ लेगी और अपने दम पर चुनाव लड़ेगी.

शिवसेना-बीजेपी के बीच खटास की खबर आती रही है. 11 दिसंबर को शिवसेना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ‘तमाशा करने’ और गुजरात चुनाव अभियान को ‘निम्न स्तर’ तक पहुंचाने का आरोप लगाया था.

अहमदनगर में एक रैली को संबोधित करते हुए युवा सेना प्रमुख आदित्य ठाकरे ने कहा, ‘शिवसेना एक साल के अंदर सरकार से बाहर हो जाएगी और फिर अपने बलबूते पावर में लौटेगी.’ उन्होंने कहा कि सरकार से बाहर होने का समय उद्धव ठाकरे तय करेंगे.

बीजेपी पर निशाना साधते हुए ठाकरे ने कहा कि शिक्षा से जुड़े मुद्दे अब तक नहीं सुलझे हैं. छात्र उनसे मुलाकात करते हैं और अपनी मांगों के बारे में बताते रहते हैं.

शिवसेना केंद्र सरकार में रहने के बावजूद नोटबंदी, जीएसटी, बुलेट ट्रेन जैसे फैसलों का विरोध करती रही है. 2015 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी और शिवसेना अलग-अलग चुनाव लड़ी थी और चुनाव बाद गठबंधन किया. 288 सीटों वाली विधानसभा में बीजेपी के पास 122 सीटें, जबकि शिवसेना के पास 63 सीटें हैं.