पाक के कटासराज मंदिर से राम-हनुमान की मूर्ति गायब, सुप्रीम कोर्ट सख्त

पाकिस्तान स्थित कटासराज मंदिर

पाकिस्तान में हिंदुओं के ऐतिहासिक कटासराज मंदिर से भगवान श्रीराम और हनुमान की मूर्ति गायब होने पर पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने नाराजगी जाहिर की है. पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को पंजाब प्रांत के चकवाल जिले में ऐतिहासिक कटासराज मंदिर परिसर में भगवान राम और हनुमान की मूर्तियों की गैरमौजूदगी पर चिंता जताई.

मंदिर परिसर में पवित्र सरोवर के सूखने पर स्वत: संज्ञान लेने के बाद सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस साकिब निसार ने सवाल किया,‘क्या अधिकारियों के पास मूर्तियां हैं या उन्हें हटा दिया गया है.’

मंदिर परिसर के तलाब सूखने के मामले में छपी मीडिया रिपोर्ट को देखते हुए जस्टिस निसार ने इस मसले को तलब किया था. मीडिया में छपी खबर के मुताबिक मंदिर के पास सीमेंट की फैक्ट्री होने से मंदिर परिसर में मौजूद तलाब का पानी कम हो रहा है.

पाकिस्तानी अखबार द डॉन में छपी खबर के मुताबिक सुनवाई के दौरान तीन जजों की पीठ ने इस इलाके में मौजूद सीमेंट की फैक्ट्री को विनाशकारी बताते हुए उसके मालिकों और अन्य कारखानों के बारे में जानकारी मांगी.

इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में किसी भी निचली अदालत में मंदिर से जुड़ी याचिका की सुनवाई पर रोक लगा दिया. कटास राज मंदिर पाकिस्तान में हिंदुओं का मशहूर मंदिर है. माना जाता है कि इस मंदिर के तलाब का निर्माण भगवान शिव की पत्नी सती की मौत पर उनके रोने से हुआ था. बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी 2005 में इस मंदिर का दौरा कर चुके हैं.