खादी मात्र कपड़ा ही नहीं बल्कि एक विचारधारा भी है – मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत

राष्ट्रीय खादी एवं ग्रामोद्योग प्रदर्शनी का उद्घाटन करते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बुधवार को परेड ग्राउण्ड, देहरादून में 25 दिसम्बर, 2017 तक आयोजित हो रही राष्ट्रीय खादी एवं ग्रामोद्योग प्रदर्शनी का उद्घाटन किया. इस अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने कहा कि खादी मात्र कपड़ा ही नही बल्कि एक विचारधारा भी है. खादी, वस्त्रों की आवश्यकता की पूर्ति तो करती ही है, रोजगार का भी माध्यम है. लाखों लोग खादी से रोजगार प्राप्त कर रहे है. खादी को बढ़ावा देने के लिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने “खादी फॉर नेशन, खादी फॉर फैशन” का नारा दिया है. खादी आज फैशन में भी आगे है.

खादी को फैशन डिजाइन के क्षेत्र में बढ़ावा देने के लिए विदेशी भी काम कर रहे है. देश में खादी की बिक्री में 33 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 2000 करोड रूपये का व्यापार हुआ है. खादी हमारे रोजगार व स्वरोजगार का साधन बने, इसके लिये प्रयास किये जाने चाहिए. उन्होंने रेशेदार पौधों की खेती को बढ़ावा देने तथा बुनकरों की संख्या में वृद्धि के प्रयासों पर भी बल दिया. उत्तराखण्ड में सहतूत से सिल्क तैयार करने की बहुत संभावनाएं हैं. भीमल व रामबांस आदि रेशा आधारित पौधो द्वारा प्राप्त मोटे रेशे से पर्दे, फुटमैट तैयार किये जा सकते है, इस दिशा में भी मुख्यमंत्री ने शोध की जरूरत बतायी.

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने कहा कि प्रदेश के गढवाल एवं कुमाऊं मण्डल के साथ ही दूर-दराज क्षेत्रों में भी ऐसे मेलो का आयोजन किया जाना चाहिए. इसके साथ ही इन क्षेत्रों में रेशेदार पौधों के अलावा भीमल, सहतूत आदि की पैदावार व उनके उत्पादों पर कार्यशाला का भी आयोजन किया जाना चाहिए, ताकि ग्रामीण क्षेत्रों में यह स्वरोजगार का साधन बनें. सामान्य आदमी तक हमारे प्राकृतिक उत्पादों के व्यवसायीकरण का लाभ पहुंचे, इस दिशा में भी कार्य किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि इस बार आयोजित खादी प्रदर्शनी में देश के 11 राज्यों के प्रतिभागियों का शामिल होना खादी को बढ़ावा देने का भी बड़ा प्रयास है. राष्ट्रीय खादी एवं ग्रामोद्योग प्रदर्शनी के अवसर पर मुख्यमंत्री ने विभिन्न स्टाॅलों का भी अवलोकन किया तथा स्टॉल संचालकों को शुभकामनाएं दी.

राष्ट्रीय खादी एवं ग्रामोद्योग प्रदर्शनी के उद्घाटन के पश्चात् मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने जयपुर में आयोजित हो रहे पैराओलम्पिक वोलीबोल प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने वाले दिव्यांग खिलाडियों के दल को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया तथा दल के सभी सदस्यों को शुभकामनाएं दी.

इस अवसर पर विधायक खजान दास, प्रमुख सचिव मती मनीषा पंवार, निदेशक उद्योग सुधीर नौटियाल, निदेशक खादी ग्रामोद्योग भारत सरकार यशपाल सिंह, भाजपा नेता सुनील गामा आदि उपस्थित थे.